Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बारिश बनी सितमगर तो आसमां बना सहारा, दस दिनों से खुले में कट रही जिंदगी

भारी बारिश में ऊधमपुर कनला के परिवार का घर बह गया है। पूरा परिवार दस दिनों से खुले आसमां के नीचे रह रहा है।

बारिश बनी सितमगर तो आसमां बना सहारा, दस दिनों से खुले में कट रही जिंदगी

जिन आसमां की बूंदों ने मकान को पूरी तबाह कर दिया, उसी गगन के सहारे पूरा परिवार नन्हें-नन्हें मासूम बच्चों के साथ जिंदगी काट रहा है। एक-दो नहीं बल्कि पूरे दस दिन से टूटे मकान के मलबे पर परिवार आस लगाए बैठा है।

इसे भी पढ़ें- बारिश के चलते यमुना का जलस्तर बढ़ने पर दिल्ली में बाढ़ की चेतावनी

मंगलवार को इस पीड़ित परिवार की एक मार्मिक तस्वीर सामने आई। ये तस्वीर दिल को दहला देने वाली है। इस तस्वीर में मलबे पर बैठे बच्चों की आंखे आसमां को ताक रही है। परिवार सोच में डूबा है कि फिर कैसे बसेगा बसेरा।

इस परिवार के लिए अभी तक कोई पड़ोसी और प्रशासन सामने नहीं आया है। बारिश, धूप और ठंड यानी बदलते मौसम की मार परिवार झेल रहा है। इसको लेकर प्रशासन सामने आया है।

ऊधमपुर कनला के डीसी रविंद्र कुमार ने कहा है कि मामला सामने आने के बाद हमारी टीम मौके पर गई है। हम लोग बुनियादी सुविधाओं को जल्द से मुहैया कराएंगे। इसके बाद सरकार की ओर से मुआवजा आदि के लिए प्रयास किया जाएगा।

Next Story
Top