Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एलओसी पर तनाव को लेकर भारत-पाक डीजीएमओ के बीच हॉटलाइन पर हुई बात

हॉटलाइन पर हुई बातचीत में दोनों पक्षों ने सीजफायर समझौते का उल्लंधन न करने, एलओसी और आईबी पर शांति कायम करने की प्रतिबद्धता जाहिर की है।

एलओसी पर तनाव को लेकर भारत-पाक डीजीएमओ के बीच हॉटलाइन पर हुई बात

जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) से लेकर अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) पर बीते कुछ समय से भारत और पाकिस्तान के संबंधों में बनी हुई तल्खी के बीच अब संवाद का नया रास्ता खुलने के संकेत मिलने लगे हैं।

इसका प्रमाण मंगलवार शाम छह बजे दोनों देशों के सैन्य अभियान महानिदेशकों (डीजीएमओ) के बीच हॉटलाइन पर हुई बातचीत से मिला है। जिसमें दोनों पक्षों ने वर्ष 2003 के सीजफायर समझौते का उल्लंधन न करने, एलओसी और आईबी पर शांति कायम करने की प्रतिबद्धता जाहिर की है।

इसका मकसद जम्मू-कश्मीर में सीमा के दोनों ओर बसे हुए आम नागरिकों के जीवन में शांति-सौहार्द कायम करना है। यहां सेना के सूत्रों ने बताया कि बातचीत की पहल पाक की ओर से की गई थी।

इसे भी पढ़ें- 'संपर्क फॉर समर्थन' की शुरुआत, अमित शाह ने पूर्व आर्मी चीफ दलबीर सिंह सुहाग से मुलाकात की

इसमें भारत की ओर से डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल ए.के.चौहान ने पाक के डीजीएमओ मेजर जनरल साहिर शमशाद मिर्जा की ओर से एलओसी पर शांति करने के प्रस्ताव को स्वीकार किया।

दोनों ने इस बात पर भी सहमति जतायी है कि सीमा पर विवाद जैसी कोई स्थिति उत्पन्न होने पर उसका समाधान बातचीत के लिए मौजूद तंत्र जैसे हॉटलाइन, बॉर्डर फ्लैग मीटिंग और स्थानीय कमांडरों के स्तर पर किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें- दिल्ली: मालवीय नगर में रबर फैक्ट्री में भीषण आग, आग पर काबू पाने में लगी फायर ब्रिगेड

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले सूबे में भारत द्वारा घोषित किए गए एकतरफा संघर्षविराम का भी पाक ने विरोध किया था और एलओसी पर कई बार संघर्षविराम का उल्लंधन कर पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सेना की चौकियों पर गोलीबारी की थी।

आंकड़ों के हिसाब से देखे तो इस वर्ष के शुरुआती चार महीनों में पाक ने कुल करीब 800 से अधिक बार संघर्षविराम समझौते का उल्लंधन कर भारतीय सेना की चौकियों को निशाना बनाया है। जबकि बीते वर्ष 2017 में पूरे साल पाक द्वारा संघर्षविराम तोड़ने की कुल करीब 850 घटनाएं हुई थी।

Next Story
Top