Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राज्यपाल मलिक बोले: मोबाइल सर्विस बैन से युवा लड़के-लड़कियों को दिक्कत हो रही थी...

राज्यपाल मलिक (Satyapal Malik) ने आगे कहा कि राज्य में टेलीफोन (Telephone) बंद होने पर बहुत हल्ला हुआ। हमने टेलीफोन सर्विस (Telephone Service) इसलिए बंद की थी, क्योंकि आतंकवादी (Terrorist) इसका इस्तेमाल कर रहे थे। हमारे लिए कश्मीरियों की जान टेलीफोन से ज्यादा कीमती है।

राज्यपाल मलिक बोले: मोबाइल सर्विस बैन से युवा लड़के-लड़कियों को दिक्कत हो रही थी...Governor Satyapal Malik Says Young Boys And Girls Were Facing Problems Due To Mobile Service Ban

जम्मू-कश्मीर के कठुआ (Kathua) में पुलिस ट्रेनिंग स्कूल (Police Training School) के कार्यक्रम में राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) ने कहा कि मोबाइल सर्विस (Mobile Service) बंद होने से युवा लड़के-लड़कियों को परेशानी हो रही थी। अब वे आपस में बात कर सकते हैं। अब कोई परेशानी नहीं है। जल्दी ही हम इंटरनेट सर्विस भी शुरू कर देंगे।

टेलीफोन सर्विस का इस्तेमाल कर रहे थे आतंकी

राज्यपाल मलिक ने आगे कहा कि राज्य में टेलीफोन बंद होने पर बहुत हल्ला हुआ। हमने टेलीफोन सर्विस इसलिए बंद की थी, क्योंकि आतंकवादी इसका इस्तेमाल कर रहे थे। हमारे लिए कश्मीरियों की जान टेलीफोन से ज्यादा कीमती है। पहले भी लोग टेलीफोन के बगैर ही रहते थे। अब जबकि टेलीफोन सर्विस शुरू हो चुकी है, तो लोग सामान्य जिंदगी जी सकते हैं।

दो महीने में घाटी में नहीं चली एक भी गोली

उन्होंने आगे कहा कि राज्य में हालात सामान्य हो रहे हैं और पर्यटकों का आना भी शुरू हो गया है। उन्होंने ये भी कहा कि पिछले दो महीनों के दौरान घाटी में एक भी गोली नहीं चली है और न ही कोई प्रदर्शन हुआ है। हालात पर सघन निगरानी के लिए उन्होंने सुरक्षा बलों को बधाई दी।

मलिक ने कश्मीर में बदलाव का जिक्र करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुझे इसके लिए बधाई दी। मैंने कहा कि मेरी जगह आपको जम्मू-कश्मीर के लोगों और सुरक्षा बलों को बधाई देनी चाहिए, जिन्होंने कानून-व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग किया। उन्होंने जम्मू-कश्मीर पुलिस को देश में सर्वश्रेष्ठ बताते हुए उनके वेतन-भत्तों की समीक्षा करने का आश्वासन भी दिया।

Next Story
Top