Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जम्मू कश्मीर : NCP प्रमुख फारूक अब्दुल्ला का 35A को लेकर बड़ा बयान, पंचायत चुनाव का किया बहिष्कार

जम्मू-कश्मीर के प्रभावी नेता और एनसीपी के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने मंगलवार को नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि उनकी पार्टी पंचायत चुनावों में भाग नहीं लेगी।

जम्मू कश्मीर : NCP प्रमुख फारूक अब्दुल्ला का 35A को लेकर बड़ा बयान, पंचायत चुनाव का किया बहिष्कार

जम्मू-कश्मीर के प्रभावी नेता और जम्मू-कश्मीर नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने मंगलवार को नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि उनकी पार्टी जम्मू और कश्मीर नेशनल कांफ्रेंस पंचायत चुनावों में भाग नहीं लेगी।

फारूख अब्दुल्ला ने कहा कि जब तक भारत सरकार और राज्य सरकार इस संबंध में अपनी स्थिति को मंजूरी दे देती है। कि जम्मू-कश्मीर पर अनुच्छेद 35A लागू है और उसके लिए अदालत में और उसके अंदर अनुच्छेद 35 ए की सुरक्षा के लिए प्रभावी कदम उठाती है।

बता दें कि नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने 3 सिंतबर को अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) द्वारा उच्चतम न्यायालय में दलील दी गयी थी। इस दलील में संविधान के अनुच्छेद 35ए में एक पहलू लिंग भेदभाव की अलोचना की गई थी।

श्रीनगर से लोकसभा सदस्य न्यायालय में एएसजी तुषार मेहता द्वारा पिछले शुक्रवार को जताए गए रूख पर प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे। एएसजी ने सुनवाई के दौरान इस दलील पर सहमति व्यक्त की कि अनुच्छेद 35 ए और कुछ खास पहलुओं पर बहस की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा था कि इससे इनकार नहीं किया जा सकता है कि अनुच्छेद 35 ए में भेदभाव का एक पहलू है। अब्दुल्ला ने एक बयान में कहा कि जम्मू-कश्मीर सरकार की तरफ से न्यायालय के समक्ष अगर इस तरह का बयान दिया गया है तो संकेत मिलता है कि अनुच्छेद 35-ए का पक्ष लेने और चुनौती को संविधान पीठ के पहले के फैसले के आधार पर खारिज करने की मांग करने के बदले राज्य सरकार ने न्यायालय के समक्ष लगभग स्वीकार कर लिया है कि अनुच्छेद 35-ए के कुछ हिस्से हटाने के लायक हैं।

उन्होंने चिंता जतायी कि ऐसे संवेदनशील मुकदमे में जम्मू-कश्मीर के महा-अधिवक्ता को वस्तुत: हाशिए पर डाल दिया गया है जो जम्मू-कश्मीर के संविधान के तहत राज्य के अनोखे कानूनी इतिहास और संवैधानिक दर्जे से संबंधित है।

Next Story
Top