Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

घाटी में वार्ताकार की नियुक्ति से आर्मी ऑपरेशन प्रभावित नहीं होंगे: जनरल रावत

सेना प्रमुख ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में सभी पक्षों से बातचीत से सेना के अभियानों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

घाटी में वार्ताकार की नियुक्ति से आर्मी ऑपरेशन प्रभावित नहीं होंगे: जनरल रावत

सेनाप्रमुख जनरल बिपिन रावत ने बुधवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में सभी पक्षों से बातचीत के लिए केंद्र द्वारा वार्ताकार की नियुक्ति किए जाने से सेना के अभियानों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने अपने प्रतिनिधि के तौर पर बीते सोमवार को राज्य में बातचीत की प्रक्रिया शुरू करने के लिए खुफिया ब्यूरो (आईबी) के पूर्व प्रमुख दिनेश्वर शर्मा की नियुक्ति की है।

सेनाप्रमुख ने यह जानकारी फिक्की द्वारा ‘सॉल्यूशंस टू प्राब्लम स्टेटमेंट्स’ विषय पर आयोजित कार्यशाला से इतर संवाददाताओं से बातचीत में दी। इस कार्यशाला की थीम ‘इंडीजिनस टेक्नोलॉजिकल एम्पावरमेंट ऑफ द इंडियन आर्मी’ थी।

नीति से बदले हालात

उन्होंने कहा कि सरकार कश्मीर मुद्दे पर बात करते हुए मजबूत स्थिति में है। केंद्र की मौजूदा नीति से राज्य के हालात में व्यापक सुधार हुआ है।

पत्रकारों द्वारा शर्मा की नियुक्ति के पीछे कश्मीर में केंद्र की सख्त नीति के काम न करने को लेकर पूछे गए एक प्रश्न के जवाब में जनरल रावत ने कहा कि मुझे ऐसा नहीं लगता है। आपके दिमाग में जो चल रहा है। वह सही नहीं है। कश्मीर में सरकार की नीति फलदायी रही है। केंद्र मजबूत स्थिति में रहते हुए ही बात कर रहा है।

जनरल रावत ने कहा कि राज्य में बीते कुछ महीनों में भारत-पाकिस्तान नियंत्रण रेखा (एलओसी) से होने वाली आतंकवादियों की घुसपैठ की घटनाओं में कमी देखने को मिली है। कुल मिलाकर राज्य के हालात में सुधार हुआ है। इसके पीछे बड़ी वजह सेना द्वारा एलओसी पर आतंकियों को मार गिराया जाना है।

Next Story
Top