Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जम्मू-कश्मीर: आतंकियों पर सेना का शिकंजा, 2 आतंकी ढेर, एक ने किया सरेंडर

दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी मारे गए।

जम्मू-कश्मीर: आतंकियों पर सेना का शिकंजा, 2 आतंकी ढेर, एक ने किया सरेंडर

दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी मारे गए। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ दोपहर बाद कुलगाम जिले के चेद्दर कैमोह इलाके में तब शुरू हुई जब सीआरपीएफ और सेना के साथ जम्मू-कश्मीर पुलिस आगामी 28 जून से शुरू हो रही अमरनाथ यात्रा से पहले एक राष्ट्रीय राजमार्ग को सुरक्षित बनाने के लिए अभियान चला रही थी।

बताया जाता है कि आतंकियों ने सुरक्षा बलों के गश्ती वाहन पर हमला किया जिसके बाद यह मुठभेड़ शुरू हुई। जम्मू कश्मीर के डीजीपी एस. पी. वैद्य ने ट्वीट कर जानकारी दी कि एनकाउंटर में तीन में दो आतंकियों के मारे जाने की खबर है, वहीं उन्होंने सुरक्षाबलों को सफल ऑपरेशन के लिए बधाई भी दी है।

गौरतलब है कि दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। कई घंटे चली इस मुठभेड़ में 4 आतंकी मारे गए थे। इस एनकाउंटर के दौरान जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवान आशिक हुसैन भी शहीद हो गए।

इसके अलावा एक नागरिक की भी मौत हुई थी। जानकारी के मुताबिक सुरक्षाबलों को देर रात ही आतंकियों के छुपे होने की जानकारी मिली थी, जिसके बाद उन्हें घेर लिया गया था। जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी एसी वैद्य ने ट्वीट किया कि आतंकियों का कनेक्शन आईएसजेके से बताया जा रहा है।

इंटरनेट सेवा बाधित

मुठभेड़ अब भी जारी है। फिलहाल सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है। सेना और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ के चलते कुलगाम जिले में इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं।

हिजबुल के दो समर्थक गिरफ्तार

जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में हिज्बुल मुजाहिदीन के दो समर्थकों को गिरफ्तार किया गया और उनके पास से एक ग्रेनेड मिला। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि दक्षिण कश्मीर में नये राष्ट्रीय राजमार्ग पर तुल्खान चौराहे पर चेकिंग के दौरान दो व्यक्ति संदिग्ध रुप से टहलते हुए नजर आए।

उनकी पहचान अमीन अहमद सोफी और तनवीर भट के रुप में हुई है। अमीन अहमद चार्लीगुंड अवंतिपुरा और अहमद भट चेचिकोट अवंतिपुरा का रहने वाला है।

कमांडो तैनात, ड्रोन से सुरक्षा

आतंकियों की किसी भी हिमाकत का जवाब देने के लिए श्रीनगर में एनएसजी के ब्लैक कैट कमांडो तैनात किए गए हैं। ये कमांडो किसी भी स्‍थ‍िति से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं, साथ ही एयरपोर्ट की सुरक्षा भी इन कमांडो के जिम्‍मे ही है। यात्रा की सुरक्षा के लिए गृहमंत्रालय ने ड्रोन से निगरानी का फैसला किया है।

1 हफ्ते में 11 आतंकी ढेर

18 जून को बांदीपोरा में सुरक्षाबलों ने 4 और 19 जून को पुलवामा में 3 आतंकियों को मार गिराया था। सुरक्षाबलों ने शुक्रवार को भी आईएस के सरगना दाऊद अहमद सोफी उर्फ बुरहान समेत 4 आतंकी मारे थे।

घाटी में 250-275 आतंकी सक्रिय

श्रीनगर स्थित 15 कॉर्प्स के कमांडर के लेफ्टिनेंट जनरल एके भट्ट का कहना है कि उत्तर कश्मीर में दक्षिण कश्मीर के मुकाबले काफी कम आतंकी हैं। जम्मू-कश्मीर में पहले के मुकाबले हालात कुछ बेहतर हुए हैं। माहौल फिलहाल शांत है। घाटी में फिलहाल 250-275 आतंकी सक्रिय हैं।

उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों ने जम्मू-कश्मीर में ऑपरेशन ऑलआउट पार्ट-2 शुरू कर दिया है। राज्य में राज्यपाल शासन लागू होने के बाद सुरक्षा बलों ने पहले ही ऑपरेशन में आईएसजेके (इस्लामिक स्टेट ऑफ जम्मू-कश्मीर) के चार आतंकियों को मुठभेड़ में मार गिराया।

लेफ्टिनेंट जनरल भट्ट ने कहा कि पाकिस्तान के लॉन्चिंग पैड से करीब 200 आतंकी घुसपैठ की कोशिश में है। सुरक्षा बलों को इसके लिए मुस्तैद कर दिया गया है। भट्ट ने कहा कि पाकिस्तान सोशल मीडिया के जरिए जम्मू-कश्मीर में दुष्प्रचार की कोशिश कर रहा है।

Next Story
Top