Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

LIVE: अनंतनाग मुठभेड़ में 4 आतंकी हुए ढेर, एक जवान शहीद, बंद हुई इंटरनेट सेवा

जम्मू कश्मीर के अनंतनाग के श्रीगुफवाड़ा क्षेत्र में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच एक बार फिर से मुठभेड़ शुरू हो गई है। मुठभेड़ के दौरान श्रीनगर और अनंतनाग में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।

LIVE: अनंतनाग मुठभेड़ में 4 आतंकी हुए ढेर, एक जवान शहीद, बंद हुई इंटरनेट सेवा

जम्मू कश्मीर के अनंतनाग के श्रीगुफवाड़ा क्षेत्र में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच एक बार फिर से मुठभेड़ शुरू हुई, जिसमें सेना ने चार आतंकियों को मार गिराया है, वहीं इस मुठभेड़ में एक जवान भी शहीद हो गया है। सेना का सर्च ऑपरेशन जारी है। श्रीनगर और अनंतनाग में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ बड़े आॅपरेशन की तैयारी है। केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ नेशनल सिक्युरिटी गार्ड (एनएसजी) की तैनाती कर दी है। हुर्रियत और अलगाववादी नेताओं को नजरबंद कर दिया गया है।
बीते कई समय से इस पर बहस चल रही थी कि क्या एनएसजी को कश्मीर घाटी में तैनात किया जाए या नहीं लेकिन आखिरकार सरकार ने इस पर मुहर लगा दी है। अब आतंकवादियों के खिलाफ बड़े ऑपरेशन में एनएसजी को शामिल कर लिया गया है। एनएसजी कमांडो की बीएसएफ के साथ ट्रेनिंग भी पहले से ही जारी है।
ऐसे में अब एनएसजी को भी मुठभेड़ों का अनुभव मिलेगा। एनएसजी को अब आतंकवादियों, घुसपैठियों के खिलाफ एनकाउंटर में शामिल किया जाएगा। केंद्र सरकार को उम्मीद है कि एनएसजी की वजह से वहां ऑपरेशन्स में मरने वाले आम नागरिकों की तादाद में कमी आएगी।
गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का गठबंधन टूटने के बाद यहां राज्यपाल शासन बहाल कर दिया गया है।
एंटी-हाईजेक ड्रिल में माहिर
गृह मंत्रालय को उम्मीद है कि जल्द ही एनएसजी के 100 कमांडो बीएसएफ के शिविरों पर तैनात कर दिए जाएंगे। उन्हें एयरपोर्ट के आसपास तैनात किया जाएगा। ये कमांडो एंटी-हाईजेक ड्रिल करने में माहिर हैं। एनएसजी कमांडो पिछले दो सप्ताह से बीएसएफ के हुमहुमा कैंप पर ट्रेनिंग कर रहे हैं।
कश्मीर में ऐसे बदलाव
48 घंटे पहले भाजपा-पीडीपी गठबंधन टूटा
मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने इस्तीफा दिया
राज्यपाल शासन लागू हुआ
नक्सल एक्सपर्ट बीवीआर सुब्रमण्यम सीएस बने
चंदन तस्कर को मार गिराने वाले विजय कुमार राज्यपाल नियुक्त
एनएसजी कमांडों की नियुक्ति कर दी गई
मलिक, गिलानी पर शिकंजा
जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के प्रमुख यासीन मलिक को हिरासत में लिया। वहीं हुर्रियत कांफ्रेंस नरमपंथी गुट के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक को उनके घर में नजरबंद कर दिया। हुर्रियत कांफ्रेंस के कट्‌टरपंथी गुट के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी को भी घर में नजरबंद किया गया।
अलगाववादियों ने जॉइंट रेजिस्टेंस लीडरशिप (जेआरएल) के बैनर तले गुरुवार को हड़ताल का आह्वान किया था। उनका आरोप है कि सुरक्षाबलों की ओर से की गई फायरिंग में आम नागरिक मारे गए हैं।
जेआरएल के प्रवक्ता ने बुखारी की हत्या के मामले में अंतरराष्ट्रीय जांच की मांग की है। हालात को देखते हुए प्रशासन ने कश्मीर में ट्रेन सेवा सस्पेंड कर दी।
क्या होगा असर
गृह मंत्रालय का मानना है कि हाउस इंटरवेंशन की टीम के जरिए ऐसे ऑपरेशन को अंजाम दिया जाएगा, जिससे मरने वालों का आंकड़ा कम किया जाएगा, क्योंकि ये सभी काफी ट्रेंड स्नाइपर्स होते हैं।
दूसरी बात यह है कि एनएसजी की टीम अभी तक लाइव ऑपरेशन नहीं करती थी, वह सिर्फ ट्रेनिंग करती थी। अब वह एनकाउंटर में भी शामिल होंगी।
Next Story
Top