Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

धारा 370 का असर : 100 से अधिक गिरफ्तार, 1 की मौत 6 घायल

कश्मीर घाटी में बुधवार को लॉकडाउन (पूरी तालाबंदी) के बीच लंबित कर्फ्यू लगाया गया और संपर्क की सभी लाइनें टूट गई हैं। इसी के साथ सुरक्षा एजेंसियों ने राजनीतिक नेताओं सहित 100 से अधिक कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है।

धारा 370 का असर : 100 से अधिक गिरफ्तार, 1 की मौत 6 घायल

कश्मीर घाटी में बुधवार को लॉकडाउन (पूरी तालाबंदी) के बीच लंबित कर्फ्यू लगाया गया और संपर्क की सभी लाइनें टूट गई हैं। इसी के साथ सुरक्षा एजेंसियों ने राजनीतिक नेताओं सहित 100 से अधिक कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है, क्योंकि उन्हें कश्मीर घाटी में शांति और अमन के लिए खतरा माना जा रहा है।

यह जानकारी अधिकारियों द्वारा दी गई है। जम्मू-कश्मीर प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि घाटी में अब तक राजनीतिक नेताओं सहित 100 से अधिक कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि उन्होंने गिरफ्तार किए लोगों का विवरण (डीटेल) नहीं दिया है।

रिपोर्ट के मुताबिक श्रीनगर में कई जहग हुए विरोध प्रदर्शन हुए। इसी बीच पुलिस ने कहा कि श्रीनगर में कर्फ्यू के दौरान पुलिस द्वारा पीछा किए जाने के बाद एक विरोधकर्ता की मौत हो गई।

एक पुलिस अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि एक घटना में पुलिस द्वारा पीछा किया जा रहा एक युवक (विरोधकर्ता) झेलम नदी में कूद गया जिस वजह से उसकी मौत हो गई। एक सूत्र ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया कि विरोध प्रदर्शन के दौरान छह लोग घायल हुए हैं जिन्हें इलाज के लिए श्रीनगर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अधिकारियों ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला, जो रविवार रात से घर में नजरबंद थे, उन्हें सोमवार रात को गिरफ्तार कर लिया गया क्योंकि उन्हें राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति के लिए खतरा देखते हुए माना जा रहा है। जम्मू और कश्मीर पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के नेताओं सज्जाद लोन और इमरान अंसारी को भी गिरफ्तार किया गया था।

उन्होंने कहा कि गिरफ्तार नेताओं को हरि निवास में रखा गया था, जो उनके गुपकर के निवास से मीटरों की दूरी पर है। उन्होंने कहा कि उनकी गिरफ्तारी के आदेश कश्मीर घाटी में शांति और शांति भंग करने के लिए उनकी गतिविधियों को देखते हुए संबंधित मजिस्ट्रेटों द्वारा जारी किए गए थे।

Next Story
Top