Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोविड-19 संक्रमित का भीड़ ने नहीं करने दिया अंतिम संस्कार, अधजली लाश लेकर भागे परिजन

कोरोना संक्रमण से हुई बुजुर्ग की मौत के बाद उनके अंतिम संस्कार के लिए दोमाना पहुंचे परिवार वालों और प्रशासन के लोगों को स्थानीय लोगों के जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा।

कोविड-19 संक्रमित का भीड़ ने नहीं करने दिया अंतिम संस्कार, अधजली लाश लेकर भागे परिजन
X

जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले में कोरोना संक्रमण से एक बुजुर्ग की मौत हो गई। जिसके बाद भीड़ ने बुजुर्ग का अंतिम संस्कार नहीं करने दिया। इसके बाद परिवार वाले अधजली लाश लेकर भाग गए।

मिली जानकारी के मुताबिक, बुजुर्ग के अंतिम संस्कार के लिए दोमाना पहुंचे परिवार वालों और प्रशासन के लोगों को स्थानीय लोगों के जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा। भीड़ ने पत्थरों व लाठी-डंडों से हमला कर दिया। जिसके बाद परिजन चिता से अधजला शव लेकर वहां से जीएमसी वापस भाग गए।

एक समाचार एजेंसी के अनुसार, प्रशासन की मौजूदगी में गोल गांव स्थित श्मशान घाट पर नियमों के मुताबिक शव का अंतिम संस्कार कराया गया। हालांकि, प्रशासन और पुलिस ने ऐसी किसी घटना से इनकार किया है।

बुजुर्ग मृतक के परिवार के अनुसार, 72 वर्षीय रिटायर्ड मास्टर की सोमवार को जीएमसी जम्मू में कोरोना वायरस की वजह से गई थी। बीते मंगलवार को एक राजस्व अधिकारी और मेडिकल टीम के साथ सुबह 6.30 बजे एंबुलेंस में शव को लेकर दोमाना इलाके में पहुंचे।

एंबुलेंस में शव के साथ मृतक के दो बेटे, पत्नी और अन्य कुछ लोग थे। सभी को पीपीई किट सहित अन्य जरूरी सेफ्टी इक्विप्मेंट्स दिए गए थे। परिजनों ने बताया कि श्मशान घाट पर जैसे ही बुजुर्ग के अंतिम संस्कार की प्रक्रिया होने लगी तभी स्थानीय लोग वहां जमा हो गए।

लोगों ने अंतिम संस्कार का विरोध शुरू कर दिया। घरवालों का आरोप है कि इस दौरान कुछ लोगों ने उनके साथ स्वास्थ्य कर्मियों पर पत्थर बरसाए व लाठी डंडे भी चलाए। इसके कारण चिता से शव को वापस एंबुलेंस में रखकर जीएमसी लाया गया।

और पढ़ें
Next Story