Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ये हैं हाईटेक बाबा, जानिए इनके कारनामे

स्वामी ने रंगमंच के जरिये देश भर के अनेक राज्यो में आपने अपने अभिनय का शानदार मंचन भी किया।

ये हैं हाईटेक बाबा, जानिए इनके कारनामे
X

ये हैं हिमाचल के हाईटेक बाबा, कभी बचपन से नाटकों के चलते बड़े परदे पर आने का सपना देखने वाले स्वामी रामशंकर ने आज दुनियाभर में एक नया नाम कमाया है।

अब इन्हें हाईटेक बाबा के नाम से पुकारा जाता है। गोरखपुर विश्वविद्यालय से बी.कॉम तक की पढ़ाई किए इस युवा संन्यासी ने वर्ष 2008 में अयोध्या के लोमश ऋषि आश्रम के महन्थ स्वामी शिवचरण दास महराज से वैष्णव परम्परा अनुसार संन्यास की दीक्षा प्राप्त की।

विद्यार्थी जीवन में स्वामी राम शंकर एक शानदार रंगकर्मी भी रहे बचपन में इनका सपना था कि बालीबुड में एक अभिनेता के रूप में खुद को स्थापित करू इस सपने को सार्थक करने के लिये रंगमंच के जरिये देश भर के अनेक राज्यो में आपने अपने अभिनय का शानदार मंचन भी किया

पर वो कहते है न, कि जिंदगी में हम वो किरदार निभाते है जो रब चाहता है और शायद यही सबसे बडी वजह है कि 20 वर्ष की अल्पायु में ही ग्लैमर की दुनिया का सपना सजोने वाला ये युवा वैराग्य जैसे कठिन मार्ग का पथिक बन गया।

और साधू सन्तों के समान स्वामी राम शंकर के भी हजारो लाखों की संख्या में अनुयायी है, बड़े - बड़े मंचो पर रामकथा प्रवचन सत्संग का आप ज्ञान बाटते है जहा हजारों की तादात में श्रोता गण बैठ कर भक्ति भाव के गहराई में डूब से जाते है पर इसके साथ ही स्वामी राम शंकर की सहजता और काम करने की शैली, और भी कमाल की तब दिखने लगती है जब अपने यात्रा के दौरान में आने वाले पड़ावो और अनेको व्यक्ति के जीवन घटना को स्वामी राम शंकर बड़े सहज सरल और रोचक अंदाज में सोशल मीडिया फेसबुक, यूट्यूब के जरिये लोगो के मध्य अपने फेसबुक प्रोफ़ाइल पर साझा करते है।

यही कारण है की स्वामी राम शंकर युवाओं के बीच सोशल मीडिया पर लोकप्रिय संन्यासी के रूप में अपनी पहचान बनाने में सफल है। स्वामी राम शंकर का जीवन केवल मठ मन्दिरों तक ही सीमित नही है समाज के प्रत्येक क्षेत्र में अभिरुचि रखने के करना आपकी समझ सर्वागीण रूप से समृद्ध है।

आध्यात्मिक जीवन यात्रा में स्वामी राम शंकर भारत वर्ष के विभिन्न गुरूकुलों में सनातन शास्त्र, वेद,उपनिषद, रामायण, भगवद्गीता, योगशास्त्र एवम संगीतशास्त्र का समुचित ज्ञान प्राप्त किया।

अध्ययन के क्रम में गुजरात के साबरकांठा स्थित गुरुकुल दर्शन योग महाविद्यालय ,हरियाणा स्थित जीन्द के गुरुकुल कलवा, हिमाचल प्रदेश स्थित कांगड़ा जिले के चिन्मय मिशन द्वारा स्थापित गुरुकुल सान्दीपनी हिमालय, झारखण्ड स्थित बिहार स्कूल ऑफ़ योग के रिखियापीठ एवम महाराष्ट्र के लोनावला स्थित विश्वप्रसिद्ध कैवल्य धाम योग स्कूल में रह कर अध्यात्म को गहराई से पढ़ा सुना समझा।

स्वामी जी के जीवन की सबसे खास बात ये भी कि करीब डेढ़ वर्ष तक इन्दिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़, छत्तीसगढ़ में रह कर न केवल संगीत सीखा बल्कि साथ ही साथ युवापीढ़ी के बीच में बेहतर तालमेल कैसे बनाया जाय, एक साधू को किस तरह से युवापीढ़ी के समक्ष अपने विषय को लेकर प्रस्तुत होना चाहिये, इस बात का अत्यंत सूक्ष्मता से अध्य्यन भी किया।आजकल स्वामी राम शंकर हरियाणा प्रदेश के जीन्द शहर में प्रवास कर रहे है बाजारों में, रेलवेस्टेशन पर, कही भी, कभी भी, युवावर्ग से सीधे सम्वाद करने में स्वामी बेहद रूचि रखते है और इसके लिये पहल भी स्वयम करते है।

स्वामी राम शंकर मानते है कि मेरा जीवन नदी की धारा और बहती हुई हवा के जैसा है, एक जगह टिक कर रहना मेरे स्वभाव में ही नही है और इसी कारण आज तक मेरा कोई पता भी निश्चित नही हो पाया, वो तो भला हो गूगल, फेसबुक और मोबाईल का जो कम्युनिकेशन का प्रबल जरिया है जिसके माध्यम से लोग मुझ तक पहुच पाते है और आपस में जुड़ कर हम समाज के लिये कुछ कर पाते है।

स्वामी राम शंकर अपने किसी कार्य के लिए कोई सेवा शुल्क नही लेते, बल्कि जो कुछ दान राशि स्वतः प्राप्त हो जाता है उसका अधिकांश भाग गरीब विद्यार्थियों को पढाई हेतु प्रदान कर देते है। स्वामी राम शंकर डिजिटल दुनिया के साथ भी बहुत लगाव रखते है, स्वामी जी के पास उनके एक विदेशी भगत ने वर्ष 2013 में एप्पल का मैकबुक प्रो लैपटॉप दिया था

स्वामी जी बताते है कि जब कभी मैं सफर के दौरान लैपटॉप का प्रयोग करता हूँ तब लोग हमारी तस्वीरे खीचा करते है स्वामी जी अपने काम भर का वीडियो एडिटिंग भी कर लेते है फोटोग्राफी में बेहद शौक रखते है, पल-पल की गतिविधी को इंटरनेट पर उपडेट भी करते रहते है।

यही वजह है कि स्वामी जी के प्रेमी प्यार से स्वामी जी को डिजिटल स्वामी भी कहते है। स्वामी राम शंकर कहते है कि मेरा केवल इतना सपना है कि दुनिया भर के युवा वर्ग को संस्कार, जीवनमूल्य से जुड़ने के लिए प्रेरित करता रहू ताकि हमारे समाज का युवा आदर्श चरित्र व जीवनशैली ये युक्त हो सके।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story