Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पहाड़ी क्षेत्रों में बदहाल हालात,गर्भवती महिला को कुर्सी पर बैठाकर डिलीवरी के लिए लाए

लॉकडाउन (Lockdown) के बीच पहाड़ी क्षेत्रों की बदहाल स्थिती सामने आयी है। एक गर्भवती महिला (Pregnant Woman) को कुर्सी पर बैठाकर सड़क तक पहुंचाया गया।

एंबुलेंस चालक ने किया जाति भेदभाव, गर्भवती महिला को बीच सड़क पर उतारा
X

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में स्वास्थ्य सुविधाओं की पोल खुल गई है। पहाड़ी क्षेत्र में गर्भवती महिलाओं को एंबुलेंस तक लाने के लिए भी पर्याप्त इंतजाम नहीं है। गर्भवती महिला को कुर्सी पर बैठाकर एंबुलेंस तक लाया गया है। जिसके बाद डिलीवरी के लिए अस्पताल ले जाया गया।

दरअसल कुल्लू के बंजार के एक गांव में लोग पहाड़ों के सहारे सड़कों तक जाते हैं। अगर कोई व्यक्ति बीमार है या शरीर से विकलांग है, तो उसे पैदल कंधे पर बिठाकर सड़कों तक पहुंचाया जाता है। इस बीच एक और मामला सामने आया है। इस गांव की एक गर्भवती महिला (Pregnant Woman) को लोगों ने कुर्सी में बैठाकर सड़क तक लाया।

इसके बाद एंबुलेंस के जरिए अस्पताल पहुंचाया गया। उपमंडल बंजार की गांव गरूली थाटा में एक गर्भवती महिला को अचानक प्रसव पीड़ा हुआ। इसके बाद गांव वालों ने पहाड़ों के जरिए कुर्सी पर बैठाकर दो किलोमीटर पैदल चलकर सड़क तक लाया।

इसके बाद महिला को 108 एंबुलेंस से बंजार अस्पताल पहुंचाया गया। जहां करीब दो घंटे के बाद महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया। महिला के पति सुरेश ठाकुर ने बताया कि उनकी पत्नी को प्रसव पीड़ा होने के कारण ग्रामीण लोत राम, कृष्ण चंद, बाल कृष्ण, आत्मा राम, हैपी ठाकुर और प्रताप ठाकुर की मदद से शुक्रवार सुबह गांव गरूली थाटा से दो किलोमीटर पैदल चलकर सड़क तक लाया गया।

Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story