Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जन्म प्रमाण पत्र के बदले नियम, ये बच्चे के जन्म पर करना होगा ये काम

पंचायत का ये निर्णय देश अपने आप में यूनीक है। पंचायत की माने तो लोग पहले पेड़ लगाने पर जोर देते थे पर पिछले कुछ सालों से पेड़ लगाने के प्रति उनकी उदासीनता बेहद चिन्ताजनक है। इसकारण पंचायत को ये फैसला लेना पड़ा। इससे लोगों को प्रेरित किया जाएगा। साथ ही ये भी कहा गया है कि ये कोई ऐसा निर्णय नहीं है जो लोगों पर जबरन थोपा जाएगा, बल्कि इसमें तो लोगो से सहयोग मांगा गया है।

जन्म प्रमाण पत्र के बदले नियम, ये बच्चे के जन्म पर करना होगा ये काम
X
Himachal Pradesh Decision of panchayat Plant a tree on baby birth and get register her

कहते हैं कि किसी बेहतर मुहीम की शुरूआत किसी छोटे से इलाके से और थोड़े से अच्छे लोगों की वजह से होती है। पर्यावरण को लेकर इस समय देश में जितनी बातें होती हैं उतनी उसके कार्यान्वित करवाने पर जोर नहीं दिया जाता। इसी कारण देश के तमाम हिस्से कभी पानी के लिए तड़पते दिखते हैं तो कभी सूखे से बेहाल हो जाते हैं। पेड़ो की हो रही अन्धाधुंध कटाई ने मानव जाति को सोचने पर मजबूर कर दिया है।

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले का एक गांव पर्यावरण बचाने के लिए एक बेहतरीन मुहीम चलाया है। 7 जुलाई को ग्रामसभा द्वारा निर्णय लिया गया कि अब जिसके भी परिवार में बच्चा जन्म लेगा वह एक पेड़ लगाएगा। झाड़माजरी की भटोलीकलां पंचायत द्वारा लिया गया फैसला न सिर्फ आसपास के इलाकों में बल्कि पूरे हिमाचल प्रदेश में चर्चा का विषय बना हुआ है। लोग खुले दिल से इसका समर्थन कर रहे हैं।

पंचायत का ये निर्णय देश अपने आप में यूनीक है। पंचायत की माने तो लोग पहले पेड़ लगाने पर जोर देते थे पर पिछले कुछ सालों से पेड़ लगाने के प्रति उनकी उदासीनता बेहद चिन्ताजनक है। इसकारण पंचायत को ये फैसला लेना पड़ा। इससे लोगों को प्रेरित किया जाएगा। साथ ही ये भी कहा गया है कि ये कोई ऐसा निर्णय नहीं है जो लोगों पर जबरन थोपा जाएगा, बल्कि इसमें तो लोगो से सहयोग मांगा गया है।

गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश का भी तापमान इसबार पिछले साल के मुकाबले काफी बढ़ गया था। गर्मियों से परेशान होकर जो उत्तर भारतीय वहां जाते थे उन्होंने इसबार दूसरा पर्यटल स्थल देखा। सोलन प्रदेश का औद्योगिक जिला है। पूरे प्रदेश में वहां प्रदूषण का स्तर सबसे ज्यादा बाकी जिलों के अपेक्षा सबसे ज्यादा है। इसकारण वहां लोगों के द्वारा पंचायत करके इस सराहनीय निर्णय को लेना पड़ा।

इस फैसले के बाद अब जो भी बच्चा पैदा होगा उसके नाम से एक पेड़ लगाना होगा इसके बाद ही उसका नाम पंचायत के रजिस्टर में दर्ज होगा। लोगों के द्वारा चलाई गई ये मुहीम कितनी सफल होगी फिलहाल इसपर कुछ कह पाना कठिन है पर ऐसे रोचक फैसलों के जरिए अगर देश के बाकी हिस्सों को भी जागरुक कर लिया गया तो पर्यावरण को बेहतर बनाया जा सकता है। बाकी सरकार को कुछ कड़े फैसले लेने की जरुरत है ताकि बड़ी त्रासदी से बचा जा सके।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story