Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हिमाचल प्रदेश : भूस्खलन से मां-बेटी की मौत, सरकार के 364 करोड़ पानी में बहे

शिमला से करीब 100 किलोमीटर दूस रामपुर बुशहर में भूस्खलन हुआ। जिसके बाद पास का ही एक पेड़ गिर गया जिसकी चपेट में आने से मां बेटी की मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

हिमाचल प्रदेश : भूस्खलन से मां-बेटी की मौत, सरकार के 364 करोड़ पानी में बहे

हिमाचल प्रदेश में इस समय मानसून का कहर जारी है। भारी बारिश और भूस्खलन से अब जनहानि भी होने लगी है। शिमला के रामपुर में भूस्खलन के कारण दो लोगों की मौत हो गई। जबकि 2 लोग बुरी तरह से घायल हो गए।

मिली जानकारी के अनुसार शिमला से करीब 100 किलोमीटर दूस रामपुर बुशहर में भूस्खलन हुआ। जिसके बाद पास का ही एक पेड़ गिर गया जिसकी चपेट में आने से मां बेटी की मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

उत्तराखंड की ही तरह हिमाचल में भी मौसम खलनायक बना हुआ है। प्रदेश में अगले 5 दिन भारी बारिश को लेकर मौसम विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है। पिछले 24 घंटे में मंडी में 47, कांगड़ा में 44 व ऊना में 34 एमएम बारिश दर्ज की गई है।

प्रदेश में अब तक बारिश की वजह से अरबों का नुकसान हुआ है। प्रदेश सरकार की एक रिपोर्ट के हवाले से खबर मिली है कि पिछले एक महीने में 364 करोड़ रुपए पानी में बह गए। इसमें सबसे ज्यादा नुकसान लोक निर्माण विभाग को हुआ है।

प्रदेश में अबतक 220 कच्चे व 70 पक्के मकान बारिश की वजह से आशिंक रूप से ध्वस्त हुए। वहीं 28 कच्चे व 18 पक्के मकान पूरी तरह से तबाह हो गए। बारिश की वजह से एक गांव को दूसरे गांवों से जोड़ने वाले रास्ते बह गए। आईपीएच विभाग की 2 हजार से ज्यादा पेयजल स्कीमें प्रभावित हुई हैं।

Next Story
Share it
Top