Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सूख गया भागसूनाग का झरना, जानें इसके पीछे की वजह

भारत में तेज गर्मी की वजह से हिमाचल के मैक्लोडगंज और भागसूनाग की शान कहे जाने वाले झरने पर संकट आ गया है, इसके साथ ही झरने का पानी गर्मी की वजह से सूख गया है।

सूख गया भागसूनाग का झरना, जानें इसके पीछे की वजह
X

भारत में तेज गर्मी की वजह से हिमाचल के मैक्लोडगंज और भागसूनाग की शान कहे जाने वाले झरने पर संकट आ गया है, इसके साथ ही झरने का पानी गर्मी की वजह से सूख गया है।

वहीं गर्मी की वजह से एेसा पहली बार हुआ है कि यहां पानी धार सी ही रह गई है और चरान खड्ड में भी पानी सूख चुका है। इस वजह से मुसाफिरो में भी नाराजगी देखने को मिल रही है और साथ ही कारोबारियों का बिजनेस भी काफी कम हो गया है।

यह भी माना जा रहा है कि झरने में कम पानी होने की वजह से त्रियुंड के इलाके में बर्फ बारी भी काफी कम हो रही है।

कई लोगों ने त्रियुड में पर्यटकों बढ़ती भीड़ को देखते हुए इसका कारण माना है, वहीं त्रियुंड की पहाड़ियो में भीड़ से पर्यावरण को काफी नुकसान पहुंच रहा है।

त्रियुंड में दिसंबर और जनवरी में बर्फबारी नहीं हुई थी, साथ ही त्रियुंड में पर्यटकों की भीड़ अधिक रही थी। यहां बर्फ नाममात्र की गिरी और जल्द पिघल गई थी। त्रियुंड की पहाड़ियों में काफी दिन तक जमा रहने वाली बर्फ भी यहां की पूरी पहाड़ियों में वाटर रिचार्ज का काम करती है, जैसा इस बार नहीं हुआ।

त्रियुंड मे पिछले साल के मुकाबले करीब चार हजार अधिक पर्यटक पहुंचे थे, वहीं इस बार बर्फबारी के दौरान भी काफी पर्यटक पहुंचे थे। जनवरी 2017 से मई 2017 तक त्रियुंड तक 40985 पर्यटक पहुंचे थे और इसके अलावा इस वर्ष जनवरी से मई तक 44129 पर्यटक त्रियुंड गए थे।

बता दें कि त्रियुंड में कम बर्फबारी को देखते हुए पार्षद ओंकार नैहरिया ने कहा है कि झरने में पानी कम होने की वजह से पर्याप्त मात्रा में बर्फबारी न हो पाई थी। सबसे बड़ा कारण यह है कि आइपीएच विभाग की पेयजल योजनाएं हैं। इस संदर्भ में कई बार प्रशासन व अधिकारियों को भी अवगत करवाया है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story