Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विदेश से लौटे युवक-युवती हुए गायब, स्वास्थ्य विभाग घरों में जाकर ढूंढ़ रहा

विदेश से लौटे तीन लोग स्वास्थ्य विभाग तथा पुलिस के लिए सिरदर्द बने हुए हैं। तीनों लोगों को ढुंढने के लिए स्वास्थ्य विभाग, पुलिस तथा खुफिया विंगों ने पूरी ताकत झोंक दी है।

समुद्री लुटेरों ने हांगकांग के जहाज में सवार 1 तुर्की नागरिक समेत 19 भारतीयों का अपहरण कियासमुद्री लुटेरों ने भारतीयों का अहपहण किया

विदहरिभूमि न्यूज. जींद। विदेश से लौटे तीन लोग स्वास्थ्य विभाग तथा पुलिस के लिए सिरदर्द बने हुए हैं। तीनों लोगों को ढुंढने के लिए स्वास्थ्य विभाग, पुलिस तथा खुफिया विंगों ने पूरी ताकत झोंक दी है। विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों ने विदेश से लौटे तीनों लोगों के ठिकानों पर दस्तक दी लेकिन उनके पते सही नहीं पाए गए। पिछले एक सप्ताह से स्वास्थ्य विभाग तीनों को तलाश रहा था। जिनके न मिलने पर पुलिस के साथ-साथ खुफिया एजेंसियां भी सक्रिय हो गई और व्यापक स्तर पर तीनों की तलाश के लिए अभियान चलाया है। अब तक स्वास्थ्य विभाग के पास विदेश से लौटे 106 लोगों की लिस्ट पहुंची है। जिसमें से 93 की जांच स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। जबकि दस की जांच शनिवार को की गई है। खास बात यह है कि जो लोग विदेश से लौटे हैं वे स्वस्थ हैं, उन्हें किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं है, फिर भी स्वास्थ्य विभाग विदेश से लौटे लोगों के स्वास्थ्य पर लगातार नजर बनाए हुए है।

स्वास्थ्य विभाग को नहीं मिले तो सक्रिय हुई खुफिया एजेंसियां

विदेश से लौटने वाले लोगों की सूची लगातार स्वास्थ्य विभाग के पास पहुंच रही है। स्वास्थ्य विभाग उन लोगों की मॉनिटरिंग लगातार कर रहा है। गत 16 मार्च को विदेश से आने वाले लोगों की सूची स्वास्थ्य विभाग को मिली। जिसके आधार पर स्वास्थ्य विभाग की रेपिड एक्शन टीम ने विदेश से लौटे लोगों के स्वास्थ्य की जांच की, उनके परिजनों के स्वास्थ्य को जांचा लेकिन तीन लोगों का सुराग नहीं लगा। जिसमें एक युवती शामिल है। जबकि दो सगे भाई हैं। स्वास्थ्य विभाग के पास पहुंची सूची के अनुसार जो नाम पते दिए गए थे, वे पते ट्रेस नहीं हो पाए। जिस पर पुलिस तथा खुफिया एजेंसियां सक्रिय हो गई ओर शनिवार को उन लोगों के ठिकानों को तलाशना शुरु किया, ताकि उन लोगों के स्वास्थ्य की जांच की जा सके।

दिनभर सुराग लगाने में जुटी रही खुफिया एजेंसियां

स्वास्थ्य विभाग से सूची जुटाकर गायब हुए तीन लोगों की तलाश में खुफिया एजेंसियों के लोग दिनभर जुटे रहे। शहर में जो पता दिया गया था वह मकान बिक चुका है। इसी प्रकार जुलाना में भी युवती का पता सही ट्रेस नहीं हुआ और न ही पड़ोसी कोई पुख्ता जानकारी दे पाए। जिसके चलते स्वास्थ्य विभाग तथा खुफिया एजेंसियों के सामने भी गायब तीन लोग सिरदर्द बन गए हैं। अब गायब लोगों के पुराने रिकार्ड को खंगाल कर उन तक पहुंचने की कोशिश एजेंसियों द्वारा की जा रही है।

सिविल सर्जन डा. जयभगवान जाटान ने बताया कि जिन लोगों की लिस्ट विभाग के पास पहुंच रही है उनके स्वास्थ्य को जांचा जा रहा है। लगातार निगरानी की जा रही है लेकिन अभी तक विदेश से लौटे तीन लोगों का सुराग नहीं लग पाया है। जिनकी तलाश के लिए हरसंभव कदम उठाए जा रहे हैं।

सीएम फ्लाइंग के डीएसपी रविंद्र कुमार ने बताया कि सभी विभाग कोरोना वायरस को लेकर तालमेल के साथ काम कर रहे हैं। जानकारियां सांझा की जा रही हैं, विदेश से लौटे तीन लोगों का पता नहीं चल पाया है। जिस पर उन लोगों की तलाश की जा रही है। जिनका सुराग लगाकर उनके स्वास्थ्य की जांच करवाई जाएगी।


Next Story
Top