Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नागरिक अस्पताल में डिलीवरी के बाद महिला की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

फतेहाबाद के टोहना में नागरिक अस्पताल में मंगलवार सुबह एक महिला की बच्चे को जन्म देने के बाद मौत हो गई। इस मामले में महिला के परिजनों ने अस्पताल के सर्जन पर उपचार में लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया।

नागरिक अस्पताल में डिलीवरी के बाद महिला की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

फतेहाबाद के टोहना में नागरिक अस्पताल में मंगलवार सुबह एक महिला की बच्चे को जन्म देने के बाद मौत हो गई। इस मामले में महिला के परिजनों ने अस्पताल के सर्जन पर उपचार में लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। प्रदर्शनकारियों ने अस्पताल के सर्जन डॉ. सचिन मंगला व उसे छुड़ाने आए एसएमओ डॉ. एचएस सागु के साथ भी मारपीट की।

घटना की सूचना मिलते ही कुछ देर बाद शहर पुलिस मौके पर पहुंची। उन्होंने मृतका के परिजनों व प्रदर्शनकारियों को शांत करवाने का प्रयास किया, लेकिन मृतक के परिजन अस्पताल के मुख्य द्वार पर धरने पर बैठ गए। इस घटना की सूचना मिलने पर डीएसपी उमेद सिंह, शहर थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह मौके पर पहुंचे। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने अस्पताल में घुसने का प्रयास किया

लेकिन पुलिस ने अंदर नहीं जाने दिया, जिसके चलते प्रदर्शनकारियों ने अस्पताल के मुख्य द्वार को ही बंद कर दिया और टोहाना-हिसार मार्ग पर जाम भी लगाया। दोपहर बाद फतेहाबाद से डप्टिी सीएमओ डॉ. हनुमान सिंह व सुनीता सोखी अस्पताल में पहुंचे। उन्होंने डॉ. सचिन मंगला से पूछताछ की। उधर पुलिस ने मृतका के शव को पोस्टमार्टम के लिए अग्रोहा भिजवा दिया।

घटना की सूचना मिलते ही राजनेताओं ने आकर पीडि़त परिवार को सांत्वना दी, वहीं इस मामले में लापरवाही बरतने वालों के विरूद्ध कार्रवाई करने की मांग की। कांग्रेस नेता व पूर्व कृषिमंत्री परमवीर सिंह, जजपा प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह, वरष्ठि कांग्रेस नेता देवेंद्र बबली व भाजपा नेता भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने इस घटना पर दुख व्यक्त किया।

मिली जानकारी के अनुसार टोहाना के वार्ड नंबर 19 निवासी विनोद कुमार शर्मा मंगलवार को अपनी 22 वर्षीय पत्नी प्रियंका की डिलीवरी करवाने के लिए सुबह 5 बजे नागरिक अस्पताल में अपने परिजनों के साथ आया था। लगभग एक घंटे बाद महिला ने एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया, लेकिन इस दौरान महिला को ब्लीडिंग अधिक होने के कारण महिला की तबीयत बिगड़ गई।

अस्पताल में तैनात चिकत्सिक डॉ. सचिन मंगला ने खूब प्रयास किए लेकिन हालत ज्यादा खराब होने पर उन्होंने टोहाना में एक निजी अस्पताल में रेफर कर दिया। जहां चिकत्सिकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजन महिला के शव को वापिस नागरिक अस्पताल में ले आए और जमकर हंगामा किया। मृतका के परिजनों ने आरोप लगाया कि सर्जन डाक्टर की लापरवाही के कारण ही महिला की मौत हुई है। उन्होंने आरोप लगाया कि उनके द्वारा चिकत्सिक को दस हजार रुपये देने के बाद भी उसके द्वारा महिला के उपचार में लापरवाही बरती, जबकि सर्जन डॉ. सचिन मंगला ने कोई भी पैसा लेने का आरोप निराधार बताया।

Next Story
Top