Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बेमौसमी बरसात से खेतों में बिछी गेंहू की फसल

बेमौसम बारिश अन्नदाता के लिए मार साबित हो रही है। आफत बनकर बरसे बादलों से गेहूं के उत्पादन पर खासा फर्क पड़ेगा जिससे किसानों को चिंता सताने लगी है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत नुकसान का आंकलन शुरू, सरक
X
बारिश और ओलों से बर्बाद हुई फसल (प्रतीकात्मक फोटो)

हरिभूमि न्यूज. कुरुक्षेत्र। बेमौसम बारिश अन्नदाता के लिए मार साबित हो रही है। आफत बनकर बरसे बादलों से गेहूं के उत्पादन पर खासा फर्क पड़ेगा जिससे किसानों को चिंता सताने लगी है। शुक्रवार शाम से लेकर शनिवार सुबह तक जिले में कई स्थानों पर गरज के साथ बारिश पड़ी। काले बादल शनिवार को भी छाए रहे। अचानक मौसम का मिजाज बदलने से किसानों की परेशानी बढ़ रही है। बारिश के साथ आई हवाओं ने गेहूं को गिरा दिया है। गेहूं की फसल खेतों में बिछी हुई दिखाई दी। गनीमत रही कि ओले नहीं पड़े वरना किसानों का ज्यादा नुकसान हो सकता था। किसानों ने बताया कि इस बारिश से गेहूं का उत्पादन कम होगा। पैदावार के लिए लागत तो उतनी ही लगी है लेकिन, गेहूं अब कम निकलेगा। बारिश ने किसानों का काफी नुकसान कर दिया है। कहीं खेतों में खड़ी गेहूं की फसल चौपट हो गई है।किसानों को तेज हवा व बारिश से भारी नुकसान हुआ है। किसान दुखी हैं कि पहले तो गेहूं की बुवाई कम हुई थी। मौसम खराब हो जाने से कटाई का कार्य मजबूरी में रोकना पड़ रहा है। वही बारिश से अंबेडकर चौक सहित कई जगहों पर पानी जमा हो गया। वर्षा के जल की निकासी न होने के कारण सड़कों ने तालाब का रूप ले लिया। इन पर वाहन चलाना तो दूर पैदल चलने में भी डर लग रहा था। बाजारों की सड़कें सुनसान रही।

Next Story