Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा के गांवों ने पेश की मिसाल, सरकार को कोरोना से लड़ने के लिए दिए 12.32 करोड़ रुपये

विश्व विख्यात ऐतिहासिक व टेक्सटाइल जिला पानीपत के छह गांवों की पंचायतों ने हरियाणा सरकार को कोरोना वायरस के विरूद्ध चल रहे संघर्ष में सहयोग स्वरूप 12.32 करोड रूपये कोरोना रिलीफ फंड में दान किए है। इनमें सर्वाधिक दान गांव बाल जाटान की ग्राम पंचायत ने 10 करोड रूपये की राशि का डिमांड ड्राफ्ट भेंट किया है।

मोबाइल फोन में एप डाउनलोड करते वक्त रहें सतर्क, एक क्लिक में खाली हो सकता है खाता
X
बैंक ( फाइल फोटो)

विश्व विख्यात ऐतिहासिक व टेक्सटाइल जिला पानीपत के छह गांवों की पंचायतों ने हरियाणा सरकार को कोरोना वायरस के विरूद्ध चल रहे संघर्ष में सहयोग स्वरूप 12.32 करोड रूपये कोरोना रिलीफ फंड में दान किए है। इनमें सर्वाधिक दान गांव बाल जाटान की ग्राम पंचायत ने 10 करोड रूपये की राशि का डिमांड ड्राफ्ट भेंट किया है, जबकि 50 लाख की राशि पानीपत प्रशासन की मार्फत भेजी गई।

वहीं पानीपत के निकटवर्ती गांव डाहर की पंचायत ने 1.11 करोड़, गांव न्यू बोहली की पंचायत ने 50 लाख और गांव सुताना की पंचायत ने 21 लाख रूपये मुख्यमंत्री कोरोना रिलीफ फंड में सहयोग स्वरूप दान किए है। जबकि पानीपत के गांव बलाना की पंचायत ने एक करोड़ रूपये व ददलाना की पंचायत ने 50 लाख रूपये हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड में दान देने का आश्वासन दिया है।

वहीं हरियाणा राज्य में 12.32 लाख रूपये की राशि कोरोना रिलीफ फंड में देने वाला पानीपत पहला जिला बन गया, जबकि सर्वाधिक रकम दान करने वाली गांव बाल जाटान गांव सूबे में दान करने में नंबर वन पर है। वहीं गांव बाल जाटान की पंचायत ने 10.50 करोड रूपये की राशि हरियाणा सरकार को कोरोना महामारी को खत्म करने के लिए दान की है।

शनिवार को गांव बाल जाटान की सरपंच सरिता देवी ने पूर्व मंत्री व भाजपा के वरिष्ठ नेता कृष्ण लाल पंवार, सरपंच प्रतिनिधि रणबीर सिंह व गांवों के पंचों राजेश, राजा, सत्यवान, विजय, नरेश, सुदेश व मंजू के साथ चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री मनोहर लाल को डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से भेंट की। वहीं हरियाणा में यह पहला अवसर है जब किसी ग्राम पंचायत ने 10.50 करोड रूपये की राशि सहायतार्थ प्रदेश सरकार को भेंट की है।

वहीं गत दिनों पानीपत के ही गांव न्यू बोहली के सरपंच विक्रम सिंह ने हरियाणा सरकार को कोरोना के खात्मे के लिए कोरोना रिलीफ फंड में 50 लाख रूपये की राशि भेंट कर चुके है। हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड में 10.50 करोड रूपये की राशि देने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जहां सरपंच सरिता व ग्राम पंचायत बाल जाटान और वहां के ग्रामीणों का आभार जताया, वहीं सीएम लाल ने ग्राम पंचायत न्यू बोहली की पंचायत का भी 50 लाख की आर्थिक मदद देने के लिए धन्यवाद किया।

धनवान ग्राम पंचायतों का इतिहास

सन् 1991 से पहले बाल जाटान व बोहली सामान्य गांव थे और दोनों गांवांे के ग्रामीण खेतीबाडी व सरकारी नौकरियां कर अपनी गुजर बसर कर रहे थे। बाल जाटान, जाट बाहुल व बोहली सिख बाहुल गांव है। इधर, सन् 1992 की शुरूआत में तत्कालीन भारत के प्रधानमंत्री पामूल पति वेंकट नरसिंह राव व हरियाणा के मुख्यमंत्री भजन लाल की निकटता किसी से छिपी नहीं है।

वहीं सीएम भजन ने पीएम राव से अपने निकटतम संबंधों का लाभ उठाते हुए पानीपत में इंडियन ऑयल कारर्पोशन लिमिटेड की रिफाइनरी की स्थापना को मंजूरी दिलवा दी। इधर, पानीपत में जीटी रोड से करीब 15 किलोमीटर अंदर की ओर गांव गांव बाल जाटान, बोहली, ददलाना, सुताना के रकबे में रिफाइनरी निर्माण को मंजूरी मिली। ं रिफाइनरी के निर्माण में जहां गांव बोहली का समस्त रकबा एक्वायर कर लिया गया, वहीं दूसरी जगह न्यू बोहली के नाम से नया गांव बसाया गया, जबकि गांव बाल जाटान, ददलाना, सुताना का भी सैंकडों एकड का रकबा रिफाइनरी के निर्माण के लिए एक्वायर किया गया।

जबकि गांव डाहर की ग्राम पंचायत ने हरियाणा शुगर फेड को शुगर मिल लगाने के लिए अपनी पंचायती भूमि बेच कर 50 करोड से अधिक राशि की कमाई की है। वहीं बलाना ग्राम पंचायत ने हरियाणा सरकार को मंडी बनाने के लिए पंचायती भूमि दी थी और पंचायत के पास भूमि का अच्छा भला रकबा है और हर साल अच्छीखासी आय होती है।

Next Story