Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

वाड्रा डील की फाइल से गायब हुए दो महत्वपूर्ण पेज, खेमका की RTI में हुआ खुलासा

अशोक खेमका ने जमीन घोटाले से जुड़ी ऑफिशल नोटिंग मांगने के लिए आरटीआई से अपील की थी।

वाड्रा डील की फाइल से गायब हुए दो महत्वपूर्ण पेज, खेमका की RTI में हुआ खुलासा
नई दिल्ली. देश की राजनीति में तूफान खड़ा करने वाले केस की फाइलों से महत्वपूर्ण कागज गायब होने का मामला सामने आया है। दरअसल सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा से संबंधित जमीन घोटाले के केस की फाइल से दो अहम पन्ने गायब हो गए हैं। जमीन घोटाले में तीन सदस्यीय पैनल बनाने को लेकर जारी की गई ऑफिशल नोटिंग वाले पन्ने गायब हैं। इसी पैनल ने रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी स्काईलाइट को जमीन घोटाले में क्लीन चिट दी थी और डीएलएफ-स्काईलाइट डील का म्यूटेशन रद्द करने वाले आईएएस अशोक खेमका पर अविश्वास जताया था।
एक एफिडेविट में हरियाणा के सुपरिटेंडेंट (सर्विस ब्रांच) डीआर वाधवा ने कहा है कि 19 अक्टूबर 2012 को मुख्य सचिव ने जमीन घोटाले की जांच के लिए कृष्णा मोहन, केके जालान और राजन गुप्ता समेत तीन सदस्यीय जांच समिति के गठन का आदेश दिया था। इससे संबंधित ऑफिशल नोटिंग 'मुख्य फाइल से हटा दी गई है और मिल नहीं पा रही है।'
अशोक खेमका ने जमीन घोटाले से जुड़ी ऑफिशल नोटिंग मांगने के लिए आरटीआई से अपील की थी, जिसके बाद सरकार ने एक एफिडेविट राज्य सूचना आयोग (एसआईसी) के समक्ष पेश किया। जमीन सौदा घोटाले के केस में अशोक खेमका के खिलाफ भी चार्जशीट फाइल की गई है। इस मामले में अपने डिफेंस के लिए खेमका ने पहले कार्मिक विभाग से ऑफिशल नोटिंग की मांग की थी, जो कि नहीं मिल पाई। इसके बाद खेमका ने एसआईसी का दरवाजा खटखटाया था।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, खेमका ने राज्य के मुख्य सचिव से इसकी शिकायत की है-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top