Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तीन दुकानदारों से नए अंदाज में हुई ठगी

कार्ड स्वाइप कर वापिस मंगवाई खाते में पेमैंट, शाम को पता चला दुकानदारों को ठगी का, सीसीटीवी फुटेज में कैद हुए आरोपित।

किसानों की जमीन का फर्जी रजिस्ट्रेशन करवाकर बेची सरसों, पोल खुलने पर अब बनवा रहे जमीन बटाई के एफिडेविट
X
हरिभूमि न्यूज. रोहतक। ठगी के मामले बढ़ते जा रहे हैं। ठग आए दिन नए-नए तरीकों से वारदात कर रहे हैं। इस बार ठगों ने नया तरीका आजमाया है। ठगों ने तीन दुकानदारोें को निशाना बनाते हुए कार्ड से हजारों की शॉपिंग कर डाली। आरोपितों ने कार्ड के जरिये भुगतान रद्द कर दिया। लेकिन कुछ ही देर में रुपये वापस उनके खाते में पहुंच गए। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जांच शुरू कर दी है।

जवाहर नगर निवासी शैलेंद्र सहगल ने बताया कि उनकी डीपार्क के पास सेकेंड स्टैप के नाम से गारमेंट्स शॉप है। दोपहर दो बजे दुकान पर तीन युवक पहुंचे। उन्होंने 3500 रुपये के कपड़े खरीद लिए। उन्होंने शॉप के अन्य कर्मचारियों को बातों में लगा लिया। इसी दौरान तीसरे युवक ने ऑनलाइन पेमैंट करने के लिए कहा। उसने मशीन की मांग की। युवक ने कार्ड स्वाइप किया और खुद ही स्लीप निकालकर दुकानदार को दे दी। इसके बाद वह तेजी से चले गए। करीबन 45 मिनट बाद वह स्काई हब गारमेंट्स पर पहुंचे। जहां तीन हजार के कपड़े खरीदे। उन्होंने दुकानदार आकाश से मशीन लेकर खुद कार्ड स्वाइप किया और चले गए। शाम को वह बाजार में फिर आए। उन्होंने डी-पार्क स्थित अरोड़ा गारमेंट्स पर तीन हजार के कपड़े खरीदे। खुद कार्ड से स्वाइप किया और चले गए। इस दौरान दुकानदारोें को कोेई शक नहीं हुआ।

यू की ठगी-

आरोपितों ने चतुराई से वारदात को अंजाम दिया। दुकानदारों को शाम के समय हिसाब के दौरान ठगी का पता चला। उन्होंने देखा कि एक बार उनके खाते में रुपये आए हैं लेकिन वह वापस ग्राहक के खाते में जमा हो गए। आरोपितों ने स्वाइप मशीन के वायड्स बटन का दुुरुपयोग किया है। कार्ड स्वाइप करने वाले युवक ने एक पर्ची निकालकर पहले दुकानदार को दे दी और दूसरी खुद ले गया। आरोपित द्वारा चोरी छिपे वायड्स बटन दबाने से दुकानदार के खाते में गए रुपये वापस आ गए।

Next Story