Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

8 अक्टूबर को रेलव स्टेशन समेत 20 जगहों को उड़ाने की मिली धमकी, जीआरपी ने बढ़ाई सुरक्षा

स्टेशन अधीक्षक यशपाल मीणा ने कहा कि मुझे रेलवे स्टेशन पर धमकी भरा पत्र मिला था। पत्र में रेलवे स्टेशन सहित 20 जगह उड़ाने की धमकी दी हुई थी। फिलहाल मैंने यह पत्र जीआरपी और आरपीएफ को दे दिया है।

8 अक्टूबर को रेलव स्टेशन समेत 20 जगहों को उड़ाने की मिली धमकी, जीआरपी ने बढ़ाई सुरक्षाThreatened To Blow Up 20 Places Including Rail Station On 8 October, GRP Increases Security

रेलवे स्टेशनों और धार्मिक स्थलों को बम से उड़ाने की धमकी भरे पत्र मिलने का रेलवे से अब पुराना नाता हो गया है। हर साल प्रदेश के किसी न किसी स्टेशन पर धमकी भरा पत्र जरूर पहुंचता है, लेकिन यह पत्र कौन और क्यों भेजता है, इसका पता आज तक भी प्रदेश की पुलिस या खुफिया विभाग भी नहीं लगा पाया है।

पुलिस केवल अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज करती है और उसके बाद मामला फाइलों में दफन हो जाता है। वहीं अब शनिवार को रोहतक रेलवे स्टेशन अधीक्षक को पत्र मिला है जिसमें 8 अक्टूबर को रेलवे स्टेशन उड़ाने की धमकी दी गई है। इसके बाद जीआरपी ने केस दर्ज कर स्टेशन पर सुरक्षा बढ़ा दी है।

दरअसल, इससे पहले अंबाला, चंडीगढ़, पंजाब के फिरोजपुर, अमृतसर और जम्मू रेलवे स्टेशन अधीक्षकों को धमकी भरे पत्र मिल चुके हैं। गत वर्ष अंबाला छावनी रेलवे स्टेशन डायरेक्टर को एक पत्र मिला था, जिसमें उन्होंने दीपावली पर प्रदेश के कई बड़े रेलवे स्टेशनों और धार्मिक स्थलों को बम से उड़ाने की धमकी दी थी।

लेकिन इन सभी मामलों में रेलवे पुलिस की कार्रवाई केवल केस दर्ज करने तक की सिमट कर रह गई। यहां तक कि खुफिया विभाग ने भी इन मामलों की जांच की, लेकिन आज तक इन पत्रों कोभेजने वालों का कोई सुराग नहीं लग पाया है।

स्टेशन अधीक्षक को मिला धमकी भरा पत्र

वहीं शनिवार को सामान्य डाक की फाइलों के बीच रोहतक स्टेशन अधीक्षक यशपाल मीणा के पास पत्र आया। इसमें लिखा गया था कि हम अपने जेहादियों की मौत का बदला जरूर लेंगे। इस बार हम भारत सरकार के होश उड़ा देंगे। 8 अक्टूबर को रेलवे स्टेशन, रोहतक, हिसार, कुरुक्षेत्र, महाराष्ट्र के बाम्बे सिटी रेलवे स्टेशन, चेन्नई स्टेशन, बैंगलुरु, जयपुर, कोटा, भोपाल, इटारसी, दुर्ग, सहित हम राजस्थान, गुजरात, तमिलनाडू, मध्य प्रदेश, हरियाणा और उत्तर प्रदेश सहित हम हिन्दुस्तान के कई प्रदेशों के रेलवे स्टेशनों और मंदिरों को निशाना बनाकर हम बम से उड़ा देंगे।

रेलवे स्टेशन की बढ़ाई सुरक्षा

पत्र में रोहतक सहित कई स्टेशनों को उड़ाने की धमकी के बाद पुलिस सतर्क हो गई है। पुलिस का कहना है कि एहतियातन सुरक्षा बढ़ा दी गई है। जीआरपी और आरपीएफ की तरफ से रेलवे स्टेशन पर आने-जाने वाले यात्रियों के सामान की तलाशी ली जा रही है। साथ ही रेलवे स्टेशन परिसर में घूमने वाले संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है। ट्रेनों में भी चेकिंग अभियान शुरू कर दिया गया है।

अंबाला कैंट में मिले पत्र के जैसा ही है यह पत्र

जीआरपी अधिकारियों का मानना है कि करीब चार वर्ष पूर्व अंबाला कैंट रेलवे स्टेशन पर मिले धमकी भरे पत्र और स्टेशन पर मिले धमकी भरे पत्र में कई समानताएं हैं। दोनों पत्रों की राइटिंग और लिखने का तरीका एक जैसा था। इसके बाद टीम ने जांच की, लेकिन धमकी केवल किसी शरारती तत्व की करतूत निकली।

स्टेशन पर बढ़ानी हाेगी उपकरणाें से सुरक्षा

रेलवे स्टेशन पर जीआरपी और आरपीएफ पुलिस द्वारा सुरक्षा बढ़ाई गई है और जांच भी चल रही है, लेकिन उपकरणाें की कमी के कारण सुरक्षा में सेंध लग सकती है, क्योंकि प्रतिदिन हजारों यात्री इस स्टेशन से हाेकर गुजरते हैं, लेकिन उपकरण न हाेने के कारण कोई भी यात्री बिना किसी राेक टाेक एवं बिना जांच के रेलवे स्टेशन पर प्रवेश कर जाते हैं। अगर रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा उपकरण लगा दिए जाएं ताे सुरक्षा व्यवस्था और बढ़ जाएगी।

जीआरपी के एसआई नरेंद्र सिंह ने बताया कि प्रकरण में एफआईआर दर्ज कर ली गई है। स्टेशन की सघन सुरक्षा के निर्देश दिए हैं। अंबाला कैंट में भी इसी प्रकार का धमकी भरा पत्र मिला था, जो बाद में किसी शरारती तत्व की करतूत निकली। अभी प्रकरण की जांच की जा रही है।

स्टेशन अधीक्षक यशपाल मीणा ने कहा कि मुझे रेलवे स्टेशन पर धमकी भरा पत्र मिला था। पत्र में रेलवे स्टेशन सहित 20 जगह उड़ाने की धमकी दी हुई थी। फिलहाल मैंने यह पत्र जीआरपी और आरपीएफ को दे दिया है। जीआरपी ने अन्य आराेपितों के खिलाफ केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

रेलवे एसपी धीरज सेतिया ने कहा कि पत्र मिलने के बाद रोहतक रेलवे स्टेशन समेत आसपास के इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया। उधर, इंटेलीजेंस, जीआरपी, आरपीएफ समेत पुलिस भी अलर्ट हो गई है। ऐसे पत्र पूर्व में भी मिल चुके हैं। इसकी जांच शुरू कर दी गई है।

Next Story
Share it
Top