Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अचानक फोन आने से भाव विभोर हो गईं डॉ. कमला वर्मा

हरियाणा की तीन बार कैबिनेट मंत्री रहीं और भाजपा की प्रथम प्रदेशाध्यक्ष रहीं डा. कमला वर्मा को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने फोन कर हालचाल पूछा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अचानक फोन आने से भाव विभोर हो गईं डॉ. कमला वर्मा
X
भाजपा की प्रथम प्रदेश अध्यक्ष रही वयोवृद्ध नेता डॉ. कमला वर्मा

Haryana Government में तीन बार कैबिनेट मंत्री रही और भाजपा की प्रथम प्रदेश अध्यक्ष रही वयोवृद्ध नेता डॉ. कमला वर्मा को Prime Minister Narendra Modi ने फोन करके उनका और उनके परिवार का हालचाल पूछा। इस दौरान प्रधानमंत्री का अचानक फोन आने से भाजपा की वयोवृद्ध नेता भाव विभोर हो उठी। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा फोन करके उनका हालचाल पूछने के लिए आभार जताया।

पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं वयोवृद्ध नेता डॉ. कमला वर्मा ने बताया कि सुबह सवा आठ बजे उनके फोन पर प्राइवेट कॉल बजी। उन्होंने उसे उठाया तो दूसरी तरफ से आवाज आई की मैं पीए टू पीएम बोल रहा हूं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी डॉ. कमला वर्मा से बात करना चाहते हैं। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी फोन पर आए और उन्होंने आते ही उनसे पूछा कमला जी कैसी हो। उन्होंने कहा कि मैं ठीक हूं और आप कैसे हैं नरेंद्र भाई प्रधानमंत्री जी ने जवाब दिया कि वह भी ठीक हैं। फिर प्रधानमंत्री जी ने उनके परिवार के बारे में कुशलक्षेम पूछा और कहा कि आपके त्याग और परिश्रम का फल है कि जो भाजपा आज यहां तक पहुंची है।

उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा कि नरेंद्र भाई आपने भी पूरा जीवन पार्टी के लिए ही समर्पित कर दिया है। इसके बाद प्रधानमंत्री जी ने उनसे कहा कि उनकी बहन की आवाज में आज भी कड़क है। जिस पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की बहन है इसलिए आवाज कड़क है। इस पर प्रधानमंत्री ने उन्हें कहा कि वह जब भी हरियाणा में आएंगे तो उन्हें जरूर मिलेंगे। इस पर उन्होंने भी प्रधानमंत्री जी को कहा कि उनकी इच्छा भी है कि वह भी लॉक डाउन खुलने के बाद दिल्ली आकर उनसे मिलेंगी। जिस पर प्रधानमंत्री जी ने कहा कि अवश्य आकर मिलना। इसके बाद बात समाप्त हो गई।

तीन बार रही कैबिनेट मंत्री

वयोवृद्ध नेता डॉ. कमला वर्मा ने बताया कि वर्ष 1977 में वह पहली बार यमुनानगर विधानसभा से चुनाव जीती और प्रदेश की स्वास्थ्य मंत्री समेत अन्य चार विभागों की कैबिनेट मंत्री रही। इसके बाद वह 1987 में भाजपा की टिकट पर यमुनानगर विधानसभा से दूसरी बार चुनाव जीती और दूसरी बार फिर स्वास्थ्य समेत अन्य चार विभागों की कैबिनेट मंत्री बनी। तीसरी बार वह वर्ष 1996 में यमुनानगर विधानसभा सीट से भाजपा की टिकट पर चुनाव जीतकर स्वास्थ्य समेत अन्य चार विभागों की कैबिनेट मंत्री बनी। उन्होंने बताया कि भाजपा की स्थापना वर्ष 1980 में हुई। उस समय वह सबसे पहली भाजपा की प्रदेश अध्यक्ष बनी। इससे पहले वह पार्टी की आल इंडिया वर्किंग कमेटी की सदस्य रही। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वह शुरु से ही नरेंद्र भाई कहती रही हैं। उन्होंने उनके साथ मिलजुल कर संगठन का काम किया।

Next Story