Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बारिश से गिरा तापमान, गेहूं की पछेती किस्मों से भी होगी बम्पर पैदावार

पश्चिम विक्षोभ के असर से शनिवार शाम को रोहतक में बारिश हुई। जिससे तापमान में तीन से चार डिग्री सेल्सियस की गिरावट हुई।

Mausam ki Jankari: राजस्थान में एक बार फिर से बदलेगा मौसम, 28 और 29 फरवरी को बारिश और ओलों की चेतावनी
X
Mausam ki Jankari: राजस्थान में एक बार फिर से बदलेगा मौसम

हरिभूमि न्यूज. रोहतक। पश्चिम विक्षोभ के असर से शनिवार शाम को रोहतक में बारिश हुई। जिससे तापमान में तीन से चार डिग्री सेल्सियस की गिरावट हुई। शाम नौ बजे पारा 17-18 डिग्री सेल्सियस था। जबकि बीते शुक्रवार को लगभग इसी समय रोहतक का तापमान 21-22 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। मौसम में अचानक बदलाव नहीं होता है तो रविवार को मौसम साफ रहेगा। मौसम विभाग का कहना है कि तीन-चार दिन के बाद एक बार फिर से हरियाणा में पश्चिम विक्षोभ का असर हो सकता है।

तापमान बढ़ने मौसम में आया बदलाव

गत 20 फरवरी काे भी पश्चिम विक्षोभ के चलते रोहतक व इसके आसपास के क्षेत्र में बारिश हुई थी। इसके बाद से पारे में निरंतर बढ़ोतरी दो रही थी। जिससे मौसम में बदलाव होने के आसार बनने लगे थे। बीते शुक्रवार से हवा का रूख पश्चिमी की बजाय पूर्व की तरफ हो गया था। सात से नौ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं पूर्व पश्चिमी की तरफ बह रही थी। इस मौसम में अगर वायु की गति बदलती है तो यह स्वभाविक ही होता है कि मौसम भी बदलेगा। शनिवार दोपहर बाद आसमान से सूरज और बादलों के बीच लुकाछुपी का खेल शुरू हो गया था। अढ़ाई बजे के करीब हल्की बूंदाबांदी हुई। इसके बाद शाम पांच बजे से फिर से बूंदाबांदी का दौर शुरू हुआ। जो बीच-बीच में रूक रूककर देर रात तक जारी रहा।

अगेती किस्मों में फायदा

कृषि विभाग के मुताबिक हर सप्ताह दस बाद हो रही बारिश से गेहूं की पछेती किस्मों में बम्पर पैदावार होने की उम्मीद बन गई है। क्योंकि पछेती किस्मों में अभी तक अच्छी तरह से बाली नहीं निकली है। ऐसे में इन किस्मों में बारिश का फायदा होगा। बारिश से गेहूं का दाना सही से विकसित हो जाएगा। जिससे बम्पर पैदावार होगी।

Next Story