Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haryana में टिड्डी दल के हमले से निपटने के लिए टीमें गठित

पड़ोसी राज्यों पंजाब और राजस्थान में टिड्डी दल के हमले की रिपोर्ट सामने आने के बाद हरियाणा को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है वहीं शुक्रवार को प्रदेश की मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोड़ा ने कृषि विभाग और जिला प्रशासन के अधिकारियों को राज्य में टिड्डी दल के हमले से निपटने के लिए पूर्व में ही सभी प्रकार की सावधानियां बरतने और व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

Haryana में टिड्डी दल के हमले से निपटने के लिए टीमें गठित
X

चंडीगढ़। हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोड़ा (Chief Secretary Keshani Anand Arora) ने कृषि विभाग और जिला प्रशासन के अधिकारियों को राज्य में टिड्डी दल के हमले से निपटने के लिए पूर्व में ही सभी प्रकार की सावधानियां बरतने और व्यवस्था करने के निर्देश (Instructions) दिए। शुक्रवार को उन्होंने टिड्डी की निगरानी और नियंत्रण के संबंध में कृषि विभाग और अन्य संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की।

बैठक में कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल ने बताया कि पड़ोसी राज्यों पंजाब और राजस्थान में टिड्डी दल (Locust) के हमले की रिपोर्ट सामने आने के बाद हरियाणा को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है। स्थिति से निपटने और इसके बारे में जागरूकता फैलाने के लिए सुपरविजन टीमें गठित की गई हैं। टिड्डी दल के हमले को नियंत्रित करने के लिए हैफेड और हरियाणा भूमि सुधार और विकास निगम के माध्यम से कीटनाशकों अर्थात क्लोरपायरीफॉस 20 प्रतिशत ईसी और क्लोरपायरीफॉस 50 प्रतिशत ईसी का पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध करवाया गया है और यदि आवश्यक हो, तो किसान इन एजेंसियों से कीटनाशक प्राप्त कर सकते हैं।

हरियाणा के नौ जिलों में हमले की आशंका

संजीव कौशल ने कहा कि पड़ोसी राज्यों और कुछ अन्य राज्यों में टिड्डी दल ने फसलों पर हमला करने के बाद, हरियाणा के नौ जिलों में जहां कीट हमले की आशंका है, उन्हें हाई अलर्ट पर रखा है और किसी भी हमले से निपटने के लिए पहले से ही पर्याप्त व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि कृषि विभाग ने कीटनाशकों का पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध करवा दिया है और व्हाट्सएप पर किसानों के समूहों का गठन किया है। उन्होंने बताया कि किसानों को भी अपने खेतों में टिड्डी के बारे में सतर्क रहने के लिए कहा गया है।

जोधपुर सेंट्रल इंस्टीट्यूट फॉर टिड्डी वॉर्निंग साथ नियमित संपर्क

बैठक में मुख्य सचिव को अवगत कराया गया कि कृषि विभाग के अधिकारी टिड्डी दल की आगे बढऩे की गति के बारे में आवश्यक जानकारी के लिए जोधपुर सेंट्रल इंस्टीट्यूट फॉर टिड्डी वॉर्निंग (टिड्डी चेतावनी संगठन) के साथ नियमित संपर्क में हैं। इसके साथ, विभाग के अधिकारी भारत सरकार के टिड्डी नियंत्रण संगठनों के साथ भी समन्वय स्थापित किए हुए हैं।


और पढ़ें
Next Story