Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पानीपत के हर अस्पताल में बनेगा फ्लू कॉर्नर, तापमान में कमी के साथ स्वाइन फ्लू का खतरा बढा

स्वाइन फ्लू से बचाव के प्रति जहां स्वास्थ्य विभाग नागरिकों को जागरूक करेगा, वहीं स्वाइन फ्लू के रोगियों का बेहतर उपचार मिले इसके लिए स्वास्थ्य विभाग सक्रिय हो गया है।

रायगढ़ में स्वाइन फ्लू से एक महिला की मौत, स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्टA woman died of swine flu in Raigarh, Health Department issued alert

तापमान में गिरावट के साथ ही स्वाइन फ्लू का खतरा बढ गया है। वहीं स्वाइन फ्लू से बचाव के प्रति जहां स्वास्थ्य विभाग नागरिकों को जागरूक करेगा, वहीं स्वाइन फ्लू के रोगियों का बेहतर उपचार मिले इसके लिए स्वास्थ्य विभाग सक्रिय हो गया है। शनिवार को पानीपत के सिविल सर्जन डॉ जितेंद्र कादियान व नोडल ऑफिसर डॉ. शशि गर्ग ने सिविल अस्पताल परिसर में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के पदाधिकारियों के साथ बैठक की।

बैठक में सिविल सर्जन डॉ कादियान ने कहा कि पानीपत जिला में निजी अस्पतालों को अलग से फ्लू कॉर्नर बनाना होगा और जनता को स्वाइन फ्लू से बचाव के प्रति जनता को जागरूक करने के लिए स्वास्थ्य विभाग का सहयोग करना होगा। वहीं स्वाइन फ्लू के हर श्रेणी के रोगी की जानकारी तत्काल नोडल अधिकारी डॉ शशि गर्ग को देनी होगी।

स्वास्थ्य विभागस्वाइन फ्लू के संदिग्ध मरीजों की जांच रोहतक, खानपुर, चंडीगढ़ पीजीआई व एनसीडीसी में करवाएगी और निजी अस्पताल को भी उपरोक्त पीजीआई व एनसीडीसी में रोगियों की जांच करानी होगी। उन्होंने आईएमए के तहत निजी अस्पताल संचालकों को चेताया कि स्वाइन फ्लू के मामले में लापरवाही बरदाश्त नहीं की जाएगी, जांच में जिन अस्पतालों में फ्लू कॉर्नर नहीं पाए गए उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। वहीं हर निजी अस्पताल में स्वाइन फ्लू से बचाव के प्रति जनता को जागरूक किया जाए।

स्वाइन फ्लू से ऐसे करें बचाव

नोडल ऑफिसर डॉ शशि गर्ग ने बताया कि स्वाइन फ्लू के मरीज दूसरों से हाथ ना मिलाए, साबुन व पानी से हाथ धोए, खांसी व छींक आने पर टिश्यू का प्रयोग करें और वहीं प्रयोग के बाद टिश्यू को सही तरीके से कूडेदान में डाले, स्वयं को स्वच्छ रखे और स्वच्छ स्थल पर निवास करें, बाहर निकले से बचे, भीड़भाड़ वाली जगह पर जाने से बचें। घरों में बिस्तर जैसे बैडशीट, रजाई व अन्य समान को हर रोज धूप में सुखाएं।

स्वाइन फ्लू रोग के प्रति लापरवाही न करें-डॉ गर्ग

डॉ शशि गर्ग ने बताया कि स्वाइन फ्लू के प्रति लापरवाही न बरते और यदि स्वाइन फ्लू की आशंका भी हो तो तत्काल सिविल अस्पताल में उपचार शुरू करवाए, वहीं स्वाइन फ्लू से रोगी को घबराने की कतई जरूरत नहीं है। वहीं स्वाइन फ्लू उन रोगियों के लिए घातक साबित हो सकता है जो नागरिक अन्य रोगों से पीडित है। वहीं गर्भवती महिलाएं, बच्चों व बुजुर्गों को स्वाइन फ्लू होने का खतरा अधिक रहता है, इसके मद्देनजर अपना बचाव रखें। वहीं सार्वजनिक स्थानों पर मुंह पर मास्क पहन कर ही जाएं।

Next Story
Top