Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सरोगेट मदर की मौत से सवालों के घेरे में अस्पताल

परिजनों का आरोप है कि चिकित्सक ने मृतका की कोख किराए पर ली थी और उपचार में लापरवाही बरतने से उसकी मौत हुई है।

सरोगेट मदर की मौत से सवालों के घेरे में अस्पताल

यमुनानगर.शहर के जगाधरी मार्ग स्थित निजी अस्पताल में उपचाराधीन सरोगेट मदर (कोख किराए पर देने वाली महिला की) की संदिग्ध हालत में उपचार के दौरान मौत हो गई। मृतक के परिजनों ने महिला की मौत होने के बाद अस्पताल में जमकर हंगामा किया और तोड़फोड़ कर दी। परिजनों का आरोप है कि अस्पताल के चिकित्सक ने मृतका की कोख किराए पर ली थी और उपचार में लापरवाही बरतने से उसकी मौत हुई है।

ये भी पढ़ें : सरोगेट मदर की मौत से सवालों के घेरे में अस्पताल

वहीं, चिकित्सकों का कहना है कि महिला अस्पताल में गर्भाशय के एगडोनेट करने के लिए भरती हुई थी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया और कार्रवाई शुरू कर दी।
आजाद नगर निवासी अशोक ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसकी पत्नी 34 वर्षीय रजनी के पास दो लड़के व एक लड़की है। वह एक फैक्टरी में काम करती है। रविवार को रजनी को उसकी साथी दो महिलाओं ने जगाधरी मार्ग स्थित निजी अस्पताल में भरती करवा दिया।
बाद में उसे पता चला कि अस्पताल की महिला चिकित्सक ने रजनी को 15 हजार रुपये का लालच देकर उसके गर्भाशय के एगडोनेट करने के लिए राजी कर लिया। इस दौरान चिकित्सक ने रजनी को इंजेक्शन लगाकर उसके गुप्तांग के आसपास ट्रीटमेंट किया।
सोमवार को दोपहर के समय अस्पताल की चिकित्सक ने रजनी को छुट्टी देकर घर भेज दिया। लेकिन रात के समय रजनी की तबीयत बिगड़ गई। मंगलवार सुबह अस्पताल के चिकित्सकों ने उसे बताया कि रजनी की मौत हो गई।
अशोक का आरोप है कि महिला डाक्टर की लापरवाही से उसकी पत्नी की मौत हुई है और उसे मौत होने के कई घंटे बात इस बात की सूचना दी गई। इसी बात से नाराज रजनी के परिजन अस्पताल में एकत्र हो गए और हंगामा कर दिया।
नीचे की स्लाइड्स में पढें, पूरी खबर-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Share it
Top