Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भाजपा में ही रहेंगे सूरपाल अमु, पार्टी ने इस्तीफे की पेशकश को ठुकराया

हरियाणा बीजेपी ने सूरजपाल अमू का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है। सोमवार को पार्टी ने 9 महीने पहले दिए उनके इस्तीफे की पेशकश को ठुकरा दिया है।

भाजपा में ही रहेंगे सूरपाल अमु, पार्टी ने इस्तीफे की पेशकश को ठुकराया

पिछले नौ महीने पहले संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत का विरोध कर रहे करणी सेना के अध्यक्ष सूरजपाल अमु ने हरियामा भाजपा को इस्तीफे की पेशकश की थी जिसे पार्टी ने सोमवार को ठुकरा दिया है। खबरों की मानें तो हरियाणा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने उन्हें प्रदेश प्रवक्ता की जिम्मेदारी दी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुताबिक अमू की घर वापसी की पूरी स्क्रिप्ट पहले ही लिखी जा चुकी थी। इसी साल गुड़गांव की भोंडसी जेल से जमानत पर रिहा होने के एक दिन बाद सूरजपाल अमू ने जनवरी के अंत में को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था।
बता दें कि गुड़गांव में 25 जनवरी को ‘पद्मावत’के विरोध में हिंसा हुई जिसमें उनकी संलिप्तता के बारे में पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। तब उन्होंने कहा था कि मैंने हरियाणा भाजपा के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला को एसएमएस, ई-मेल, ट्वीट तथा फेसबुक के जरिए सूचित कर दिया है।
तब अमू ने कहा था बीजेपी वोटों के लिए राजपूतों के पास आती है। मुसलमानों के खिलाफ भी पार्टी राजपूतों का इस्तेमाल करती है। लेकिन अपमान भी राजपूतों का हो रहा है। उन्होंने कहा कि गुजरात में चुनाव है, हम बीजेपी को वोट दिलाना चाहते हैं, लेकिन उसकी शर्त ये है कि पीएम मोदी को फिल्म पद्मावत को बैन करना चाहिए।
Next Story
Share it
Top