Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बसों की छत पर चढ़कर सफर करने को मजबूर हुए विद्यार्थी

बसों की कमी के चलते इन विद्यार्थियों को स्कूल जाने व स्कूल से वापस घर आने के लिए मजबूरन बसों पर लटकर व छत पर चढ़कर मौत के साये में सफर करना पड़ रहा है।

बसों की छत पर चढ़कर सफर करने को मजबूर हुए विद्यार्थी

राजौंद में स्कूली विद्यार्थियों द्वारा बसों पर लटककर सफर करना उनकी मजबूरी बनकर रह गई है। क्योंकि बसों की कमी के चलते इन विद्यार्थियों को स्कूल जाने व स्कूल से वापस घर आने के लिए मजबूरन बसों पर लटकर व छत पर चढ़कर मौत के साये में सफर करना पड़ रहा है।

आलम यह है कि सर्दी के मौसम में बसों पर सफर करना कितना जोखिम भरा है यह विद्यार्थी ही बता सकते है। छोटे-छोटे छात्र बसों के पीछे व छत पर लटकर सफर करते सरेआम देखे जा सकते हैं। ऐसे में इनकी सुरक्षा का जिम्मा राम भरोसे ही दिखाई दे रहा है।

विद्यार्थियों ने बताया कि सुबह व छुट्टी के समय उनको ऐसे में सफर करना मजबूरी बन चुकी है, क्योंकि बसों की कमी के चलते उन्हें घंटों बस स्टेंड पर खड़ा रहना पड़ता है। कुछ भी हो इन छात्रों को बसों से लटकर सफर करना किसी भी खतरे से खाली नहीं है। प्रत्येक मार्ग से गुजरने वाली बसों पर विद्यार्थियों को बसों पर लटक कर सफर करना देखा जा सकता है।

उधर कई गांवों में बस सर्विस न होने के कारण छात्र-छात्राएं थ्री व्हीलर व पैदल चलकर ही अपने गंतव्य पर पहुंचने को मजबूर हैं। विद्यार्थियों ने मांग करते हुए कहा कि इन मार्गो पर बसों के टाइम बढ़ाए जाए ताकि उन्हें किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े ओर किसी प्रकार की अनहोनी की आशंका न रहे।

Next Story
Top