Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

NDRI में एक हफ्ते में 75 से ज्यादा पशुओं की मौत से मचा हड़कंप, डॉक्टरों की टीम अभी तक फेल

हरियाणा के एनडीआरआई (NDRI) में पिछले एक हफ्ते से हर रोज करीब 10 पशुओं (Cattles) की मौत हो रही है। मौत के कारण की अभी तक पुष्टि नहीं हुई है। अधिकारियों पर मामले को दबाए जाने का आरोप लगाया जा रहा है।

करनाल के एनडीआरआई में लाखों के पशुओं की मौत, वैज्ञानिकों की टीम जांच में जुटी
X
File Photo

हरियाणा के करनाल (Karnal) में स्थित राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान (NDRI) में वैज्ञानिकों से लेकर अफसरों के होश उड़े हुए हैं। पिछले एक हफ्ते से लगातार पशुओं की मौत हो रही है। जानकारी के मुताबिक एक सप्ताह के अंदर करीब 75 पशुओं (Seventy Five Cattles) की मौत हो चुकी है।

वैज्ञानिकों ने आशंका जताई है कि मौत का कारण खराब चारा हो सकता है। इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन फॉर एनिमल प्रोटेक्शन ने मामले में हस्तक्षेप कर एनडीआरआई के वैज्ञिनिकों के खिलाफ पुलिस को शिकायत दी है। थाना प्रभारी ने कहा है शिकायत आई है तो मामले में जांच करने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

लाखों की कीमत के पशुओं की मौत

एनडीआरआई संस्थान के कैटल यार्ड में 1,500 से ज्यादा दुर्लभ प्रजाति के पशु हैं। गाय, भैंस, भैंसों की इन प्रजातियों पर संस्थान में रिसर्च की जाती है। लाखों की कीमत के इन पशुओं की लगातार मौत हो रही है। मुर्राह नस्ल की भैंस भी इनमें शामिल हैं, जिनकी कीमत सबसे ज्यादा होती है।

जांच पूरी होने के बाद होगी कारण की पुष्टि

एनडीआरआई प्रवक्ता डॉ. राजन शर्मा ने बताया है कि पशुओं की मौत के कारणों की जांच की जा रही है। बरेली के इंडयन वेटरनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट से जांच के लिए तीन वैज्ञानिकों की टीम को बुलाया गया है। जांच पूरी होने के बाद ही सही कारणों की पता चल पाएगा।

फिलहाल संक्रमण रोकने के लिए गेट पर चूना फैला दिया गया है व किसी भी बाहरी व्यक्ति का संस्थान में प्रवेश वर्जित कर दिया गया है। इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन फॉर एनिमल प्रोटेक्शन ने मामले में आरोप लगाया है कि एनडीआरआई मामले को संस्थान के अधिकारी दबाने की कोशिश में लगे है। संस्थान ने मरे हुए पशुओं का पोस्टमार्टम भी नहीं कराया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story