Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

प्रद्युम्न मर्डर केस: सुप्रीम कोर्ट के जज ने सुनवाई से बनाई दूरी

मामले को एक उचित पीठ के सामने सुनवाई के लिए सूचीबद्ध करने के लिए प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा को भेजा।

प्रद्युम्न मर्डर केस: सुप्रीम कोर्ट के जज ने सुनवाई से बनाई दूरी

रयान इंटरनेशनल स्कूल के सात वर्षीय प्रद्युम्न की हत्या के मामले में उसके पिता की अपील पर सुप्रीम कोर्ट के एक जज ने सुनवाई से दूरी बना ली है।

अपील में रयान इंटरनेशनल समूह के तीन ट्रस्टियों को प्रद्युम्न हत्याकांड में दी गई अग्रिम जमानत को रद्द करने की मांग की गई थी।

जब सुनवाई शुरू हुई तो वरिष्ठ न्यायाधीश न्यायमूर्ति आदर्श कुमार गोयल के साथ बैठे न्यायमूर्ति यू यू ललित ने कहा कि वह मामले में सुनवाई करने वाली पीठ में नहीं रहेंगे।

अदालत ने फिर मामले को चार दिसंबर को एक उचित पीठ के सामने सुनवाई के लिहाज से सूचीबद्ध करने के लिए प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा को भेजा।

इसे भी पढ़ें- प्रद्युम्न मर्डर केस: अशोक ने सुनाई आपबीती, बताया हत्या के दिन क्या-क्या हुआ

इससे पहले शीर्ष अदालत ने रयान इंटरनेशनल ग्रुप के तीन ट्रस्टियों को पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय द्वारा दी गई अग्रिम जमानत को रद्द करने की अपील पर शुक्रवार सुनवाई करने पर सहमति जता दी।

प्रद्युम्न के पिता बरुण चंद्र ठाकुर की याचिका को वकील सुशील टेकरीवाल ने रखा। उच्च न्यायालय ने 21 नवंबर को रेयान इंटरनेशनल समूह के सीईओ रेयान पिंटो और उनके माता-पिता अगस्टीन पिंटो तथा ग्रेस पिंटो को गुड़गांव के उनके स्कूल में प्रद्युम्न की हत्या के सिलसिले में अग्रिम जमानत दे दी थी।

ठाकुर ने अपनी अपील में दावा किया कि मामले में सीबीआई जांच चल रही है और इस स्तर पर अग्रिम जमानत देने से अपराध न्याय व्यवस्था प्रभावित होगी।

Next Story
Share it
Top