Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सरपंच पराली ना जलाने वाले किसानों को करवाएंगे हवाई यात्रा, 15 किसानों का जत्था आज होगा रवाना

दादरी जिले के घिकाड़ा गांव के सरपंच सोमेश पर्यावरण को लेकर अपने इलाके के लोगों को जागरूक करने के लिए अनोखा प्रयास कर रहे हैं। इस बार सोमेश पराली ना जलाने वाले 15 किसानों को अपने जेब खर्च पर हवाई यात्रा करवा रहे हैं।

सरपंच पराली ना जलाने वाले किसानों को करवाएंगे हवाई यात्रा, 15 किसानों का जत्था आज होगा रवाना

पर्यावरण प्रदूषण एक गम्भीर समस्या बनता जा रहा है। सरकारें प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए प्रयास कर रही हैं, लेकिन वो प्रयास धरातल पर नजर नहीं आते, क्योंकि इस बारे में आमजन को जितना सहयोग करना चाहिए उतना सहयोग मिल नहीं पा रहा है। ऐसे में कुछ सामाजिक संस्थाएं और समाजसेवक इस मुद्दे पर काम आगे बढ़कर लोगों को जागरूक करने के लिए प्रयास भी किए जा रहे हैं।

दादरी जिले के घिकाड़ा गांव के सरपंच सोमेश पर्यावरण को लेकर अपने इलाके के लोगों को जागरूक करने के लिए अनोखा प्रयास कर रहे हैं। इस बार सोमेश पराली ना जलाने वाले 15 किसानों को अपने जेब खर्च पर हवाई यात्रा करवा रहे हैं। इन सभी किसानों ने सरपंच के आग्रह पर पिछले साल धान की फसल की पराली जलाने की बजाय आवारा पशुओं के लिए गौशाला में दान कर दी थी।

इससे पूर्व में भी घिकाड़ा के सरपंच सोमेश स्वच्छता अभियान में हिस्सेदारी लेने वाले 25 ग्रामीणों को दादरी से गुजरात का भ्रमण करवा चुके हैं। गांव के बच्चे स्कूल ड्रॉप ना करें और शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढें इसको लेकर स्कूली बच्चों को पैरा ग्लाइडिंग करवाकर आसमान से अपना गांव दिखा चुके हैं। सोमेश का कहना है कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान से प्रभावित हुए।

उन्होंने भी मन मे ठाना कि वे भी इस अभियान से जुड़कर नवाचार करके लोगों को जागरूक करेंगे लेकिन शुरुआत अपने गांव से इसलिए की है कि पहले गांव बदलेंगे तभी देश बदलेगा। सोमेश सरपंच 30 अक्टूबर को गांव से 15 किसानों के साथ रवाना होकर सबसे पहले हिसार के अग्रोहा धाम के दर्शन करेंगे।

उसके बाद फिरोजपुर जिले में हुसैनीवाला स्थित भारत-पाकिस्तान सीमा पर भारतीय सीमा सुरक्षा बल के जवानों द्वारा की जाने वाली परेड दिखाने का अवसर दिया जाएगा। उसके बाद अगले दिन सुबह भटिंडा से जम्मू के लिए हवाई यात्रा करवाते हुए जम्मू पहुंचने पर जम्मू के राज्यपाल से मुलाकात करने के बाद माता वैष्णांे देवी के दर्शन करवाकर वापिस घिकाड़ा लेकर आएंगे।

Next Story
Top