Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सहकारी बैंकों ने कर्ज बांटना किया शुरू, बिना ब्याज के मिल रहा है पैसा

ब्याज की जो दर बैंकों द्वारा किसानों से, जो 4 प्रतिशत बनती है, उसको सरकार स्वयं वहन करेगी।

सहकारी बैंकों ने कर्ज बांटना किया शुरू, बिना ब्याज के मिल रहा है पैसा
रोहतक. सहकारी बैंकों ने सीमांत किसानों और खेतीहर मजदूरों को बिना ब्याज का कर्ज देना शुरू कर दिया है। पिछले दो महीने में प्रदेशभर के करीब 4-5 लाख किसान बिना ब्याज का कर्ज ले चुके हैं। तकरीबन एक महीने तक किसानों को रबी फसल की बिजाई के लिए कर्ज बैंकों द्वारा अभी और दिया जाएगा। ताकि किसान आसानी फसलों की बिजाई कर सकें। इसके बाद किसानों को यह कर्ज रबी फसल की कटाई कढ़ाई के बाद मई जून में बैंकों को वापिस करना होगा। यह कर्ज वापिस करने के बाद किसान कुछ दिन बाद फिर से खरीफ की फसलों के लिए कर्ज ले सकते हैं।
तत्कालीन प्रदेश सरकार ने कर्ज के बोझ तले दबे किसानों व खेतीहर मजदूरों को कुछ राहत प्रदान करने के लिए घोषणा की थी कि अब इस वर्ग को सरकार बिना ब्याज के कर्ज मुहैया कराएगी। ब्याज की जो दर बैंकों द्वारा किसानों से, जो 4 प्रतिशत बनती है, उसको सरकार स्वयं वहन करेगी।
सरकार घोषणा पर अमलीजामा पहनाने के लिए एक अधिसूचना जारी की, जिसमें कहा गया था कि जो भी किसान व खेतीहर मजदूर एक सितंबर 2014 से सहकारी बैंकों से कर्ज लेकर खेतीबाड़ी करेगा, उसको ब्याज मुक्त कर्ज सरकार की तरफ से दिया जाएगा। सितंबर महीने में रबी की फसलों की बिजाई का समय होता नही है। इसलिए किसानों ने अब ब्याज मुक्त कर्ज लेना शुरू किया है।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, चुकाने के बाद खरीफ की फसल के लिए ले सकते हैं कर्ज-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top