Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रोहतक: बोहर में शराब ठेके खोले तो होगा विरोध

लोकहित संस्था के अध्यक्ष एडवोकेट चंचल नांदल ने कहा कि उनके गांव बोहर में अगर शराब के ठेके खोले गए तो इसका हर स्तर पर विरोध होगा।

Dry Days In Maharashtra : महाराष्ट्र में शराब की बिक्री पर दो दिन की पाबंदी, 24 को भी रहेगा
X
शराब बिक्री पर रोक

हरिभूमि न्यूज. रोहतक। लोकहित संस्था के अध्यक्ष एडवोकेट चंचल नांदल ने कहा कि उनके गांव बोहर में अगर शराब के ठेके खोले गए तो इसका हर स्तर पर विरोध होगा। मैना पर्यटक केंद्र में पत्रकारों से बातचीत करते हुए नांदल ने कहा कि आर्य समाज बोहर ने 1680 गणमान्य व्यक्ति के हस्ताक्षर करवाकर गांव में शराब का ठेके न खोले जाने का ज्ञापन सरकार को भेजा था। लेकिन अभी तक सरकार द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

उन्होंने बताया कि सरकार की नीति के अनुसार गांव की आबादी के 10 प्रतिशत लोगों के हस्ताक्षर होने पर वहां शराब का ठेका न खोलने की नीति है। जबकि गांव बोहर के 15 प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने हस्ताक्षर कर बोहर गांव तथा गढ़ी बोहर में शराब का ठेका न खोलने के संबंध में उपायुक्त रोहतक को 30 दिसम्बर, 2019 को जापन दिया था। उपायुक्त आर.एस. वर्मा ने भी पूरा आश्वासन दिया था कि आपके गांव में शराब का ठेका न खुले इसके लिए वे प्रयास करेंगे।

एडवोकेट चंचल नांदल ने बताया कि उस ज्ञापन को लेकर 27 फरवरी को पंचकूला बुलाया गया है। हमें कहा गया है कि गांव के सरपंच को पंचायत का प्रस्ताव लाया जाए। नांदल ने कहा कि बोहर एवं गढ़ी बोहर नगर निगम क्षेत्र में आता है। इसलिए यहां पंचायत नहीं हैं। ऐसे में पंचायत का मांगना अव्यवहारिक है। पत्रकार वार्ता में आर्य समाज बोहर के प्रधान धनीराम आर्य, आर्य बलबीर सिंह, आर्य अजय नांदल, हंस राज आर्य, राजीव, डॉक्टर बिजेंदर, कैप्टन दयानंद नांदल, अशोक नांदल, राजेश सैनी, नाना पहलवान, विशाल आर्य, कर्मवीर आर्य, सुखबीर सिंह दहिया, रणवीर पहलवान, अंकुर आर्य, डॉ. जगदीप, अमित आर्य, सत्यवीर शास्त्री मौजूद रहे।

Next Story