Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा की दो बहनों के जज्बे को सलाम, घर की तंगहाली संभालने के लिए चला रहीं रोडवेज बस

हरियाणा के रोहतक की दो बहनें परिवार चलाने के बाद रोडवेज बस चला रही हैं। दोनों ही हरियाणा की पहली महिला ड्राइवर हैं।

सुषमा स्वराज के नाम पर रखा अंबाला बस अड्डे का नामअंबाला बस स्टैंड (प्रतीकात्मक फोटो)

हरियाणा के रोहतक की इन दो बहनों के जज्बे की मिसाल आज हर कोई कर देता है। बस ड्राइवर बन ये बेटियां पुरूषों के एकाधिकार वाले इस पैसे में चुनौती पेश कर रही है। दोनों ने तंगहाली में गुजर रहे परिवार की गाड़ी को पटरी पर ला दिया है। दोनों यही नहीं, स्नात्कोत्तर की पढ़ाई भी कर रही है।

रोहतक शहर की एकता कालोनी निवासी दो सगी बहनें रीना हुड्डा और मीना हुड्डा बेटियों के लिए प्रेरणास्त्रोत है। मेक द फ्यूचर ऑफ कंट्री (एमटीएफसी) संस्था से जुड़ी दोनों बहनों हेवी वाहन चालन के लिए काम कर रही है।

दोनों बहनों के पिता का साया सिर से उठने के कारण परिवार का सारा बोध मां इंद्रावती पर आ गया। इंद्रवती ने बड़ी मुश्किल से अपनी दो बेटियों और बेटों को पाला। आर्थिक तंगी के कारण भाइयों को बहुत कम उम्र से ही घर की जिम्मेदारी उठानी पड़ी, लेकिन जरुरतों के आगे वह कमाई बौनी पड़ री थी।

दोनों ने स्कूल की पढ़ाई करने के साथ ही बेटियों ने स्कूटी, बाइक और कार चलाना भी सीखा। संस्थान के संचालों और अध्यापकों के प्रेरित करने पर छोटी बहन मीना ने हरियाणा रोजवेज के रोहतक प्रशिक्षण केंद्र पर हैवी व्हीकल लाइसेंस के लिए आवेदन किया।

करीब एक महीने के सफलतापूर्वक प्रशिक्षण के बाद अप्रैल 2018 में लाइसेंस लिया। ऐसा करने वाली वो रोहतक की पहली महिला भी है। इससे उत्साहित बड़ी बहन रीना ने भी बहादुरगढ़ के प्रशिक्षण केंद्र से हैवी लाइसेंस लेने वाली पहली महीला बनीं।

Next Story
Top