Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भाई ने रेप किया तो बहन हुई प्रेग्नेंट, अब डॉक्टरों ने लिया ये फैसला

हरियाणा के एक गांव की 14 वर्षीय किशोरी के साथ दुष्कर्म किया गया। आरोप उसके ही चचेरे भाई पर लगा।

महिला क्लर्क से अशलील हरकत, एडीए समेत तीन नामजदमहिला क्लर्क के साथ दुष्कर्म (प्रतीकात्मक फोटो)

हरियाणा के एक गांव की 14 वर्षीय किशोरी के साथ दुष्कर्म किया गया। आरोप उसके ही चचेरे भाई पर लगा। इसके बाद शुुक्रवार को किशोरी ने परिजनों के सामने पेट दर्द की शिकायत की। उसके परिजन उसे लेकर सामान्य अस्पताल में पहुंचे। जहां किशोरी की मेेडिकल जांच की गई तो डॉक्टर यह जानकर हैरान रह गए कि किशोरी गर्भवती हैै।

मामले की सूचना तत्काल महिला पुलिस को दी गई और पीड़िता का उपचार शुरू किया गया। इस दौरान किशोरी की काउंसिलिंग करवाई गई और उसे पीजीआईएमएस में रेफर किया गया। किशोरी की जांच गायनी विभाग के चिकित्सकों द्वारा की जा रही है। जांच मेें पता चला हैै कि उसेे करीब 20 सप्ताह से कम का गर्भ है। जिसके चलते जल्द ही उसका गर्भपात करवाया जाएगा। अधिकारियों का कहना है कि नियमों के तहत अब बोेर्ड गठित करने की जरूरत नहीं है।

महिला आयोेग चेेयरमैन ने हालचाल जाना

रोहतक दौरे के दौरान महिला आयोग की चेयरपर्सन प्रतिभा सुमन ने पीजीआई के गायनी वार्ड में भर्ती दुुष्ककर्म पीड़िता का हालचाल जाना। उन्होंने चिकित्सकों को बेहतर ढंग से मदद करने के लिए निर्देश दिए। उन्होंने कहा परिवार की हर सम्भव मदद होगी और वह एसपी को सख्त कार्रवाई के लिए लिखा जाएगा। उनके दौरे के दौरान एमएस डॉ. एमजी वशिष्ठ और गायनी विभाग की चिकित्सक डाॅ. सविता समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

किशोरी का कराया जायेगा गर्भपात

पीजीआई में उपचाराधीन दुष्कर्म पीड़िता के गर्भपात के लिए पीजीआई ने बोेर्ड गठित नहीं किया है। अधिकारियोें का दावा हैै कि जांच में 20 सप्ताह से कम का गर्भ पाया गया है। जिसके चलतेे बोेर्ड गठित करने की जरूरत नहीं है। जल्द ही किशोरी का गर्भपात करवाया जाएगा। किशोरी को शुुक्रवार को ही सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पीजीआईएमएस एमएस डाॅ. एमजी वशिष्ठ ने कहा कि गायनी विभाग की चिकित्सक डॉ. सविता सिंघल के नेतृत्व में टीम द्वारा किशोरी की जांच करवाई गई हैं। जांच में 20 सप्ताह से कम की प्रेगनेंसी मिली है। जिसके चलते गर्भपात के फैसले के लिए बोर्ड का गठन नहीं किया जाएगा। जल्द ही पीड़िता का गर्भपात कराया जाएगा।


Next Story
Top