Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Republic Day 2020 : गणतंत्र दिवस परेड में कुमाऊँ रेजीमेंट की कमान संभालेगा हरियाणवी छोरा

Republic Day 2020 : गणतंत्र दिवस परेड में सेना का कुमाऊं रेजीमेंट का मार्चिंग दस्ता प्रत्येक हरियाणावासी के लिए आकर्षण का एक बहुत बड़ा केंद्र बिंदू बनेगा। कुमाऊँ इसकी कमान पहली बार राज्य के जींद जिले के कैप्टन राहुल कटारिया के हाथ में होगी

Republic Day 2020 : गणतंत्र दिवस परेड में कुमाऊँ रेजीमेंट की कमान संभालेगा हरियाणवी छोरा
X
गणतंत्र दिवस परेड (प्रतीकात्मक फोटो)

Republic Day 2020 : गणतंत्र दिवस परेड में सेना का कुमाऊं रेजीमेंट का मार्चिंग दस्ता प्रत्येक हरियाणावासी के लिए आकर्षण का एक बहुत बड़ा केंद्र बिंदू बनेगा। क्योंकि इसकी कमान पहली बार राज्य के जींद जिले के कैप्टन राहुल कटारिया के हाथ में होगी।

23 वर्षीय राहुल सेना की कुमाऊं रेजीमेंट की 16वीं बटालियन में वर्ष 2017 में कमीशन हुए हैं और उसके महज तीन साल के अंदर उन्हें देश के सबसे बड़े राष्ट्रीय पर्व में अपनी रेजीमेंट की अगुवाई करने का सुनहरा अवसर मिला है। परेड के दौरान कुमाऊं रेजीमेंट के अपने दस्ते की तरफ से कैप्टन राहुल ही सशस्त्र सेनाओं के शीर्ष कमांडर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सलामी देंगे।

यहां बृहस्पतिवार को सेना द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कैप्टन राहुल कटारिया ने हरिभूमि से खास बातचीत में परेड में शामिल होने को लेकर अपने अनुभव साझा किए हैं। पेश हैं बातचीत के अंश

प्रश्न. परेड में शामिल होने को लेकर आपको कैसा अनुभव हो रहा है

उत्तर. एक जवान की जिदंगी में सिर्फ लड़ाई या युद्ध ही एक ऐसा क्षण होता है जो उसे गौरवांवित कराने वाले होते हैं। इसके अलावा 26 जनवरी की परेड मंय भारतीय सेना की सबसे अहम कुमाऊं रेजीमेंट के दस्ते का नेतृत्व करने के लिए मेरा चयन होना भी मेरे लिए एक बहुत ही खुशी और गौरव का पल है। मुझे नहीं लगता कि अब आगे ऐसा कोई दूसरा क्षण मेरी जिदंगी में कभी आएगा।

प्रश्न. सेना में किसकी प्रेरणा से शामिल हुए

उत्तर. मेरे पिताजी हरियाणा पुलिस में कार्यरत हैं। मेरे बचपन से उनका एक सपना था कि मैं एक फौजी बनू और उसे ही साकार करने के लिए मैंने कड़ी मेहनत की और उसके बाद भारतीय सेना को करियर के विकल्प के रूप में चुना। मेरा परिवार हिसार में रहता है। वहीं पर मेरी शुरुआती पढ़ाई डीएवी पुलिस पब्लिक स्कूल से हुई है। बारहवीं के बाद मैंने नेशनल डिफेंस अकादमी को जॉइन किया। उसकी बाद मेरी आईएमए में एक साल की ट्रेनिंग हुई जिसके बाद मैं कुमाऊं रेजीमेंट की 16वीं बटालियन में कमीशन हुआ।

प्रश्न. परेड में सेना के कितने दस्ते भाग ले रहे हैं

उत्तर. इस वर्ष परेड में सेना के कुल 6 मार्चिंग दस्ते भाग ले रहे हैं। इसमें कुमाऊं रेजीमेंट के अलावा पैराशूट रेंजीमेंटए ग्रेनेडियर्सए सिक्ख लाइट इंफेंट्रीए सिग्नल्स और आर्मी एयर डिफेंस शामिल है। परेड में कुमाऊं रेजीमेंट के दस्ते में 144 जवानए 2 जेसीओ और 1 अधिकारी शामिल है।

प्रश्न. 26 जनवरी के लिए कब से प्रशिक्षण चल रहा है

उत्तर. गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेने के लिए हमारी रेजीमेंट के दस्ते ने करीब छह महीने पहले से ट्रेनिंग लेना शुरु कर दिया था। इसकी शुरुआत अगस्त 2019 को रानीखेत के रेजीमेंटल सेंटर से हुई। यहां हमने नवंबर के मध्य तक प्रशिक्षण लिया और उसके बाद 28 नवंबर को हम दिल्ली आ गए। फिर 1 दिसंबर से लेकर आज तक हम यहीं पर परेड के लिए अभ्यास चल रहा है।


Next Story
Top