Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शर्मनाक! रेप पीड़िता को 5 अस्पतालों ने नहीं किया भर्ती

महिला का कुछ महीने पहले रेप हुआ था, जिसके बाद वह प्रेग्नेंट हो गई थी। लेकिन उसकी प्रेग्नेंसी नहीं दिखी।

शर्मनाक! रेप पीड़िता को 5 अस्पतालों ने नहीं किया भर्ती

मेवात जिले की एक महिला गैंगरेप से प्रेगनेंट हो गई थी। अनजान लोगों ने महीनों पहले महिला का रेप किया था, उसे रविवार को लेबर पेन शुरू हो गए। वह मेवात और गुड़गांव के कई अस्पतालों में गई, लेकिन डॉक्टरों ने उसे भर्ती नहीं किया।

करीब 100 किलोमीटर का सफर कर सात घंटों बाद वह दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल पहुंची और वहां बच्चे को जन्म दिया, जिसमें कोई हरकत नहीं। महिला को हाई डिपेंडेंसी यूनिट(HDU) में रखा गया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया, के अनुसार पनहाना निवासी बिस्मिल्लाह अल्वी ने बताया, 'करीब 30 वर्षीय पीड़ित महिला पनहामा के मेन मार्केट में घूमती दिखाई देती थी, किसी को उसका नाम नहीं मालूम। दुकानदार और वहां रहने वाले लोगों की कृपा पर वह जिंदा थी।

कुछ महीने पहले उसका रेप हुआ था, लेकिन जबतक उसकी प्रेग्नेंसी दिखने नहीं लगी, किसी को इस बारे में पता नहीं चला।'

गुरुवार की सुबह उसे लेबर पेन शुरू हो गए, कुछ स्थानीय लोग उसे पनहामा जनरल हॉस्पिटल ले गए, लेकिन डॉक्टरों ने उसकी मानसिक हालत देखते हुए उसे अल आफिया जनरल हॉस्पिटल रेफर कर दिया।

इसके बाद उसे एक निजी अस्पताल में जाया गया, लेकिन महिला रेप पीड़िता थी और मानसिक रूप से बीमार भी, लिहाजा उसकी सुरक्षा का मुद्दा बड़ा था।

वहां का एक डॉक्टर उसे अल आफिया अस्पताल ले गया, यहां भी उसे इलाज नहीं मिला। उसे शहीद हसन खान मेडिकल कॉलेज भेजा गया, जो नल्हार में है।

नल्हार पहुंचते-पहुंचते शाम के 5 बज गए और वहां कोई गायनकॉलजिस्ट नहीं थी। वहां, एक डॉक्टर मौजूद थे लेकिन वह अकेले ऑपरेशन नहीं करना चाहते थे।

इसके बाद डॉक्टर मुलायम ने अपने जूनियर डॉ़क्टरों के साथ वापस महिला को अल आफिया छोड़ दिया। आखिर में महिला को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल लाया गया। सोमवार को यहां के एक सीनियर डॉक्टर ने बताया कि महिला की हालत में सुधार हो रहा है, वह एचडीयू में है, लेकिन दुर्भाग्य से बच्चा नहीं बचा।

Next Story
Share it
Top