Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बलात्कारी बाबा राम रहीम कमरे में रखता था ढेर सारे कॉन्डोम, गर्भनिरोधक दवाएं

सीबीआई को गुरमीत राम रहीम द्वारा पीड़ित 10 साध्वियों से रेप की पता चली है।

बलात्कारी बाबा राम रहीम कमरे में रखता था ढेर सारे कॉन्डोम, गर्भनिरोधक दवाएं

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को अदालत द्वारा दो साध्वियों के बलात्कार के लिए 20 साल कठोर कारावास और 30 लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाने के बाद उससे जुड़ी तमाम बातें सामने आ रही हैं।

गुरमीत राम रहीम मामले की जांच कर चुके सीबीआई के पूर्व डीआईजी एम नारायणन ने मीडिया को दिए इंटरव्यू में कई बड़े खुलासे किए हैं। 2009 में सीबीआई के संयुक्त निदेशक पद से सेवानिवृत्त हुए 67 वर्षीय एम नारायणन के अनुसार डेरा सच्चा सौदा के सिरसा स्थित मुख्यालय में प्रवेश पाना भी सीबीआई के लिए टेढ़ी खीर साबित हुआ था।

इसे भी पढ़े:- खट्टर सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाया जाएः सुरजेवाला

नारायणन के अनुसार सीबीआई टीम को स्थानीय गुंडों ने तमाम तरह की धमकियां दी थीं। नारायणन के अनुसार राम रहीम अपने आश्रण (गुफा) में मध्यकालीन सामंतों की तरह रहता था। वो हर वक्त महिलाओं (साध्वियां) से घिरा रहता था।

नारायणन के अनुसार डेरा की प्रमुख साध्वी हर रात करीब 10 बजे एक साध्वी को गुरमीत राम रहीम के कमरे में सोने के लिए भेजती थी। नारायणन के अनुसार गुरमीत राम रहीम किसी शातिर अपराधी की तरह अपने किए अपराधों के सारे सबूत-निशान मिटा देता था। नारायणन ने न्यूज 18 से कहा, “उसके कमरे में कॉन्डोम और गर्भनिरोधक का ढेर था।

30 मिनट ही हुई मुलाकात

2009 में सीबीआई के संयुक्त निदेशक पद से सेवानिवृत्त हुए 67 वर्षीय एम नारायणन ने कहा कि वह खुद को भाग्यशाली महसूस कर रहे हैं कि डेरा प्रमुख को दोषी करार दिए जाने के दौरान वह दिल्ली से दूर हैं।

केरल के उत्तरी कासरगोड जिले में सेवानिवृत्ति के बाद से रह रहे नारायणन ने कहा, “हम सिरसा में उनके आश्रम गए थे। राम रहीम ने मुझे मिलने के लिए 30 मिनट का समय दिया था। वहां वह एक गुफा में रहता था, जिसमें ऐशो-आराम की सारी सुविधाएं मौजूद थीं। हम वहां पहुंचे और करीब तीन घंटे तक उनसे पूछताछ की।”

इसे भी पढ़े:- डेरा मामले में सीएम खट्टर ने दी अमित शाह को सफाई, कहा- मैंने अच्छा काम किया

10 पीड़िताओं से की बात

नारायणन के अनुसार सीबीआई आखिरकार गुरमीत राम रहीम द्वारा रेप का शिकार बन चुकी 10 पीड़िताओं से संपर्क करने में कामयाब रही। लेकिन उनमें से ज्यादातर शादीशुदा थीं इसलिए वो राम रहीम के खिलाफ केस नहीं कराना चाहती थीं। सीबीआई ने दो पीड़िताओं को शिकायत करने के लिए तैयार किया और 56वें दिन अंबाला कोर्ट में आरोपपत्र दायर कर दिया।

Next Story
Share it
Top