Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

माता-पिता के एकलौते और लाडले संतान थे राम रहीम, ये थे कारनामें

रेप मामले के दोषी राम रहीम पर उनके दामाद विश्वास गुप्ता भी आरोप लगा चुके हैं।

माता-पिता के एकलौते और लाडले संतान थे राम रहीम, ये थे कारनामें

साध्वी से रेप केस मामले में दोषी करार डेरा प्रमुख राम रहीम को लेकर हर दिन नया खुलासा हो रहा है। गुरमीत राम रहीम का जन्म 1967 में राजस्थान के श्रीगंगानगर में हुआ था।

इसे भी पढ़ें: पंचकूला हिंसा में बड़ा खुलासा, 1000-1000 में बुलाए गए थे बाबा के गुंडे

वो अपने माता-पिता की इकलौती संतान है। गुरमीत के जन्म से पहले उनकी एक बहन का जन्म हुआ था, लेकिन उसकी मृत्यु हो गई थी, इस कारण से अपने माता-पिता के इकलौते और लाडले थे।

बाबा राम रहीम बचपन से ही मस्तीखोर और रसिया स्वभाव के थे। स्कूल के दिनों से ही लड़कियों को छेड़ना, लोगों को परेशान करना उनकी आदत में था। लड़कियों के साथ छेड़खानी के चलते ही उन्हें 9वीं क्लास में स्कूल से निकाल दिया गया था।

गुरमीत के जन्म के बाद संत ने भविष्यवाणी की थी कि वो 23 साल के बाद घर छोड़कर चला जाएगा। इसी वजह से उनके मात-बाप ने 18 साल की उम्र में ही उनकी शादी कर दी थी।

इसे भी पढ़ें: 2 जांबाज CBI अधिकारियों ने ढहा दिया राम रहीम का किला

गुरमीत राम रहीम अपने घरवालों के साथ डेरा जाता था। धीरे-धीरे वो शाह सतनाम सिंह का अनुयायी बन गया। उन्होंने ही गुमीत को गुरमीत राम रहीम नाम दिया। बाद में शाह सतनाम सिंह ने गुरमीत को डेरे की गद्दी सौंपने का फैसला लिया।

साल 2011 में एक टीवी इंटरव्यू के दौरान विश्वास गुप्ता ने आरोप लगाया कि उनसे अपनी आंखों से बाबा के कमरे में बाबा और अपनी पत्नी और अपनी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत को आपत्तिजनक अवस्था में देखा था।

Next Story
Share it
Top