Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रामपाल को था जान का खतरा! आने जाने के लिए करता था बुलेटप्रूफ सफारी का प्रयोग

रामपाल ने गिरफ्तारी के तीन दिन बाद स्नान किया। स्नान करने के बाद साढ़े दस बजे खाना खाया।

रामपाल को था जान का खतरा! आने जाने के लिए करता था बुलेटप्रूफ सफारी का प्रयोग
हिसार. सतलोक आश्रम में एसआईटी के सर्च अभियान के तहत दूसरे दिन एक बलेट प्रूफ सफारी, एक एसी बस व चार कंप्यूटर की हार्ड डिस्क मिली हैं। इसके अलावा शनिवार को भी आश्रम में छुपे हुए तीन अनुयायियों को बाहर निकाल कर हिरासत में लिया है। आश्रम से दो लाख रुपये की नकदी भी मिली है। लेकिन पुलिस ने पुष्टि नहीं की है।
शनिवार को एसआई ने रामपाल के 31 कमांडो की निशानदेही पर ये चीजें बरामद की हैं। पुलिस का कहना है कि अभी कई दिनों तक सर्च अभियान चलता रहेगा। पुलिस ने अभियान में ग्रामीणों का भी सहयोग लिया। सुबह से लेकर शाम तक अभियान चला। तीन लोगों को आरम से बाहर निकाला गया जिनमें मध्यप्रदेश का लक्षमण, मनीष व बिहार का अजय शामिल है।
पुलिस प्रशासन ने सतलोक आश्रम के बाहर सफाई करवाकर मलबे को ट्रैक्टर-ट्रॉली में डालकर कूड़ा-कर्कट को एक स्थान पर डलवाया। अभी सर्च अभियान जारी रहेगा। रामपाल ने गिरफ्तारी के तीन दिन बाद स्नान किया। स्नान करने के बाद साढ़े दस बजे खाना खाया। पुलिस ने दिन के समय रामपाल से पूछताछ की। पूछताछ के बाद उनके द्वारा बताए गए स्थानों पर सर्च अभियान चलाया गया। हालांकि शुक्रवार को रामपाल ने खाना तो खाया था लेकिन स्नान नहीं किया था। रामपाल दिन भर खामोश बैठे रहे।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, रामपाल की गिरफ्तारी से पहले ट्रस्ट के अकाउंट से निकाले गए करोड़ों रुपये-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Share it
Top