Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा : सड़को पर मौत बनकर घूम रहे ओवर लोडेड वाहन, पुलिस प्रशासन मौन

प्रशासन-प्रशासन को चाहिए कि जब जीरी या गेहूं की बिक्री का सीजन चल रहा हो तो अतिरिक्त पुलिस बल लगाकर यातायात व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाया जाए।

हरियाणा : सड़को पर मौत बनकर घूम रहे ओवर लोडेड वाहन, पुलिस प्रशासन मौन

अंबाला में इन दिनो ओवरलोडिड वाहनो की भरमार हो चुकी है और पुलिस केवल दुपहिया वाहनो को चेक कर अपनी डयूटी पूरी कर रही है। अंबाला से रोजाना रेत, बजरी, मिटटी के सैकडो ओवरलोडिड ट्रक गुजरते हैं, लेकिन पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती है। इन दिनो जीरी के सीजन तो ओवरलोडिड वाहनो की संख्या भरमार हो चुकी है।

सबसे अधिक बुरा हाल अंबाला-हिसार रोड पर है। इन ओवरलोडिड वाहनो के कारण रोजाना हादसे हो रहे हैं। ऐसा लगता है कि प्रशासन भी सड़क सुरक्षा सप्ताह केवल कागजो तक ही सीमित रहता है। बुधवार दोपहर अंबाला शहर अनाज मंडी से जीरी से भरा एक ओवरलोडिड ट्रक बीच सड़क में जीरी की बोरियां गिराता चला गया।

ऐसे में पीछे आ रहे वाहन चालको ने एमरजेंसी र्ब्रेक लगाकर हादसा होने से बचाव किया। ट्रक चालक को मानव चौक पर जाकर पता चला कि जीरी की बोरियां नीचे गिर रही है। बाद में उसके कर्मचारियो ने आकर बोरियां सड़क से उठाई। गनीमत यह रही कि यह बोरियां किसी बाइक या एक्टिवा चालक के ऊपर नहीं गिरी, नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था।

अतिरिक्त पुलिस बल करे तैनात करे प्रशासन-प्रशासन को चाहिए कि जब जीरी या गेहूं की बिक्री का सीजन चल रहा हो तो अतिरिक्त पुलिस बल लगाकर यातायात व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाया जाए। मंडी के पास तो रोजाना इसी कारण जाम लगा रहता है। हैरानी की बात तो यह है कि मंंडी मे जिस कंडे पर ट्रक या ट्राली का भार तोला जा रहा है, वहां भी अधिकारी ओवरलोड को लेकर चुप हैं।

बिना एंट्री घुस रहे वाहन-प्रशासन ने भारी वाहनो की एंट्री का समय तय किया हुआ है, लेकिन इसके बावजूद पुलिस को गच्चा देकर या मिलीभगत कर सैकड़ो भारी वाहन नो एंट्री के समय में भी अंबाला से गुजर रहे है और कोई पूछने वाला नहीं है। वहीं दूसरी ओर चंडीगढ़ टू अंबाला टू हिसार रोड का नया हाइवे का प्रोजेक्ट अभी तक पूरा नहीं हुआ है, जिस कारण अंबाला में यातायात व्यवस्था चरमराई हुई है।

नगर निगम नहीं कर रहा कार्रवाई-अंबाला में यातायात व्यवस्था के बिगड़ने का एक कारण यह भी है कि कालका चौक से लेकर नसीरपुर तक सड़क किनारे दुकानदारो व अवैध रेहड़ी संचालको ने कई कई फुट का अतिक्रमण किया हुआ है। नगर निगम के अभियान केवल एक दो दिन ही चलते हैं या किसी बड़े मंत्री या मुख्यमंत्री ने अंबाला आना हो, तब ही नगर निगम वाले जागते हैं।

Next Story
Top