Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा कैबिनेट विस्तार : पिहोवा विधायक संदीप सिंह के सिर सजा मंत्री पद का ताज

संदीप सिंह ने पिहोवा से ऐतिहासिक जीत दर्ज कर सरस्वती के शहर पिहोवा की सीट को भाजपा की झोली में डालने का काम किया है। इसी का इनाम भाजपा ने संदीप सिंह को राज्य मंत्री का पद देकर दिया है।

Sandeep SinghSandeep Singh

पिहोवा विधायक संदीप सिंह के सिर मंत्री पद का ताज सज गया है। संदीप सिंह ने पिहोवा से ऐतिहासिक जीत दर्ज कर सरस्वती के शहर पिहोवा की सीट को भाजपा की झोली में डालने का काम किया है। इसी का इनाम भाजपा ने संदीप सिंह को राज्य मंत्री का पद देकर दिया है। मौजूदा विधानसभा चुनाव में संदीप सिंह ही इकलौते ऐसे अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी है जिन्होंने जीत दर्ज की है।

अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह कई मायनों में अन्य विधायकों के मुकाबले खास स्थान रखते है। एक तो संदीप सिंह ने हॉकी मेंे भारत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सम्मान दिलाने का काम किया था और दूसरे पिहोवा सीट से पहली बार भाजपा को जीत दिलाने का श्रेय भी संदीप सिंह को जाता है। साफ छवि और प्रदेश में एक विशेष स्थान रखने वाले संदीप सिंह को मंत्री पद मिलना अपने आप में मिसाल पेश करने वाली बात है।

यूं तो पहले से ही संदीप सिंह का नाम मंत्री पद के लिए हलके में चर्चा का विषय बना हुआ था। अक्सर हलके में संदीप सिंह को खेल विभाग का मंत्री बनाए जाने की बातें चलती थी। संदीप सिंह खुद भी लोगों को चुनाव के दौरान आश्वासन दिलाते थे कि पिहोवा से भाजपा की जीत कई मायनों में पिहोवा वासियों के लिए एक नई सौगात लेकर आएगी।

पिहोवा में संदीप सिंह ने किया था खेल हब बनाने का वादा

भाजपा विधायक संदीप सिंह अपनी चुनावी सभाओं के दौरान अक्सर लोगों से एक बात कहा करते थे कि जीतने के बाद भी पिहोवा को खेलों के मामले में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने का काम करेंगे जिसके लिए पिहोवा को खेल हब बनाया जाएगा। संदीप सिंह मानते है कि पिहोवा में खेल प्रतिभाओं की कमी नही है। यहां पर कमी केवल युवाओं को एक बेहतरीन प्लेटफार्म देने की है

जिसके लिए पिहोवा में अंतरराष्ट्रीय स्तर का हॉकी स्टेडियम व अन्य ग्रामीण खेलों की संभावनाओं की तलाश कर प्रतिभाओं को निखारकर उन्हें बेहतरीन अवसर दिया जाएगा। अब जबकि संदीप सिंह मंत्री बन गए है तो पिहोवा के लोगों को उनसे उम्मीदें भी कुछ ज्यादा ही लग गई है। अब देखना होगा कि संदीप सिंह अपने प्रभाव व प्रतिभा से पिहोवा के लोगों के लिए क्या सौगात लेकर आते है।

संदीप सिंह ने बरकरार रखा इतिहास और बनाया नया इतिहास

संदीप सिंह ने न केवल पिहोवा से प्रदेश की राजनीति के इतिहास को बरकरार रखा अपितु सरस्वती की नगरी पिहोवा में भाजपा के लिए एक नया इतिहास भी रचने का काम किया है। पिहोवा का इतिहास रहा है कि यहां से सत्ता पक्ष का जो भी विधायक उसे मंत्री पद अवश्य प्राप्त हुआ। ऐसा ही विधायक संदीप सिंह के साथ भी हुआ। उन्होंने पिहोवा सीट का इतिहास बरकरार रखते हुए मंत्री पद प्राप्त किया।

वही दूसरी ओर संदीप सिंह ने पहली बार पिहोवा से भाजपा को जीत दिलाकर एक नया इतिहास भी कायम करने का काम किया है। पिहोवा में पहली बार संदीप सिंह की जीत से ही कमल का फूल खिला है। गौरतलब है कि पिहोवा से कांग्रेस पार्टी से चुने गए हरमोहिदर सिंह चट्ठा यहां से चुनने के बाद वित्तमंत्री, कृषि मंत्री और विधानसभा अध्यक्ष बने। इनेलो की सरकार के दौरान में यहां से चुने गए जसविद्र सिंह संधू कृषि मंत्री रहे है।

संघर्षों से जूझकर ही संदीप सिंह सूरमा से बने मंत्री

विधायक संदीप सिंह के सूरमा बनने का रास्ता कभी सीधा नही रहा। वे संघर्षों से जूझकर संदीप सिंह सूरमा बनने से लेकर मंत्री पद तक पहुंचे। ट्रेन में यात्रा के दौरान गोली लगने के बाद भी वह जिस तरह से खेल के मैदान में वापस लौटे थे यह किसी करिश्मे से कम नहीं था। इसके लिए उन्होंने दोबारा जी-तोड़ मेहनत की उसी के बलबूते पर टीम को शिखर पर ले जाने में कामयाब रहे। उनका यही जज्बा उन्हें राजनीति के मैदान में भी दिखाया। यहां पर भी विकट परिस्थितियां संदीप सिंह के सामने थी।

एक तरफ राजनीति में संदीप सिंह की नई पारी थी और पिहोवा क्षेत्र भी उनके लिए नया था। राजनीति के बारे उन्हें कुछ भी मालूम नही था। दूसरी ओर पिहोवा से आज तक भाजपा का कोई विधायक जीत दर्ज नही कर पाया था। फिर भी हॉकी कप्तान ने अपनी सूझबूझ से चुनोतियों को अवसर में बदलकर पिहोवा की राजनैतिक के इतिहास को बदल डाला और जीत का ऐसा गोल किया कि सभी दिग्गजों को सोचने पर मजबूर कर दिया। संदीप सिंह की इस जीत को जहां इतिहास में दर्ज किया जाएगा वही पिहोवा के लोगों के लिए भी संदीप सिंह एक उम्मीद और उजाले की किरण बनकर आए है।

Next Story
Top