Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गांव में कोरोना फैलने का लोगों को डर, दिन-रात दे रहे पहरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील कि हमें अपने आप को बचाना है, परिवार व देश को बचाना है को चरितार्थ करते हुए अब कौलेखां के ग्रामीणों ने नई पहल करते हुए कोरोना से बचाव को लेकर टीकरी पहरा शुरू कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग के की एहतियात कि कोरोना से बचाव को लेकर सोशल डिस्टेसिंग बनाकर रखनी है को ध्यान में रखकर ही ग्रामीणों ने यह फैसला लिया है।

अमेरिका ने लॉन्च किया कोरोना किट, महज पांच मिनट में मिलेगी रिपोर्ट की जानकारीकोरोना वायरस (प्रतीकात्मक)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील कि हमें अपने आप को बचाना है, परिवार व देश को बचाना है को चरितार्थ करते हुए अब कौलेखां के ग्रामीणों ने नई पहल करते हुए कोरोना से बचाव को लेकर टीकरी पहरा शुरू कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग के की एहतियात कि कोरोना से बचाव को लेकर सोशल डिस्टेसिंग बनाकर रखनी है को ध्यान में रखकर ही ग्रामीणों ने यह फैसला लिया है।

हालांकि इससे पूर्व टीकरी पहरा गांव में रात के समय चोरी की वारदातों से निपटने को लेकर डीसी के आदेशानुसार लगाया जाता रहा है लेकिन ऐसा पहली बार होगा जब ग्रामीणों ने किसी महामारी से बचने को लेकर टीकरी पहरा शुरू किया हो। यह फैसला गांव के सरपंच कर्मवीर सहारण के नेतृत्व में लिया गया। खास बात यह है कि इसका पालन 25 मार्च से ही शुरू कर दिया है।

टीकरी पहरा को लेकर बकायदा ग्रामीणों ने पांच से 10 व्यक्तियों की प्रतिदिन दिन व रात की डयूटी भी अलाट कर दी है। मजे की बात तो यह है कि सोशल डिस्टेसिंग बनाए रखते हुए गांव की युवा व अन्य व्यक्ति अपनी डयूटी देने के लिए आगे आ रहे हैं।

टीकरी पहरे के अनुसार अब गांव में कोई भी बाहरी व्यक्ति प्रवेश नहीं कर पाएगा। ग्रामीणांे का मानना है कि यदि कोई बाहरी व्यक्ति गांव में प्रवेश ही नहीं कर सकेगा तो इससे कोरोना का संक्रमण का चक्रव्यूह अपने आप टूटकर रह जाएगा। खास बात यह भी कही गई है कि टीकरी पहरे के दौरान गैर जरूरत या आपात स्थिति के कोई भी ग्रामीण गांव की सीमा से बाहर जाएगा। न गांव के ग्रामीण इकट्ठे बैठकर हुक्का पिएंगे, न इकट्ठे बैठकर तास खेलेंगे।

गांव में गांव के ही व्यक्ति को भी सैनिटाइज करवाकर प्रवेश करवाया जाएगा। कोरोना वायरस से बचने के लिए ग्रामीणों को किया जा रहा है। पंचायत के दौरान भी सभी ग्रामीणों ने जहां अपने मुंह कपड़े से ढांपकर रखे तो वहीं उन्होंने करीब एक मीटर की दूरी भी बनाकर रखी। इस अवर पर सरपंच कर्मवीर सहारण, मास्टर रायसिंह सहारन, पूर्व सरपंच चंद्रहास, धोला व्यापारी, धीरु सरपंच, मनदीप सहारण, नरेश खूंगा, डॉक्टर कर्मवीर, शशि प्रकाश ,रामनिवास पंजाब सिंह सुरेश कुमार आदि उपस्थित थे।

Next Story
Top