Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पराली जलाने की सूचना नहीं दी तो पंच-सरपंच को पड़ेगा भारी, प्रशासन करेगा कार्रवाई

हरियाणा में पराली जलाने पर पंच-सरपंच को इसकी सूचना प्रशासन को देनी होगी। यदि प्रशासन को सूचना नहीं दी तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

सांकेतिक फोटोसांकेतिक फोटो

रोहतक मंडल आयुक्त पंकज यादव ने कहा है कि खेतों में फसल अवशेषों (पराली) में आग लगाना उच्चतम न्यायालय के आदेशों की अवमानना मानी जाएगी। ऐसा करने वाले तथा मौके के जिम्मेदार अधिकारी अथवा सरपंच, पंच के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाए। ये निर्देश मंडलायुक्त पंकज यादव ने अधिकारियों की बैठक के दौरान दिए। उन्होंने कहा कि प्रदूषण से मुक्ति के लिए साल भर की कार्य योजना बनानी होगी। उन्होंने निर्देश दिए कि जिले में मौजूद सरकारी अथवा पंचायती रकबे को पट्टे पर देने से पहले उक्त जमीन पर पराली अथवा फसल अवशेष ना जलाने की शर्त रखी जाए।

उन्होंने निर्देश दिए कि हर गांव में पराली में आग लगाने की घटनाओं पर नजर रखने, इसे रोकने और इसकी सूचना देने के लिए एडीओ, पटवारी व ग्राम सचिव की कमेटी 24 घंटे सक्रिय रहेगी। उनके क्षेत्र में अगर आग लगने की घटना होती है तो यह कमेटी जिम्मेदार होगी। संबंधित एसडीएम भी इन ग्राम स्तरीय कमेटियों के साथ तालमेल रखेंगे और नियमित रूप से क्षेत्र का दौरा करते रहेंगे। जिले के सभी गांवों में ग्राम सभा की बैठक आयोजित कर किसानों को पराली न जलाने के संबंध में जागरूक किया जाए। पंकज यादव ने जिला शिक्षा अधिकारी परमेश्वरी हूड्डा को निर्देश दिए कि जिले में स्थापित सभी स्कूलों की जमीन में पेड़ पौधे रोपित करें। इसी तहर से नगर निगम, उद्योग विभाग, कृषि विभाग, प्रदूषण विभाग तथा अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों को इस बारे में कड़े कदम उठाने के निर्देश जारी करते हुए परिपालन रिपोर्ट उनके समक्ष प्रस्तुत करने के लिए कहा।

उपायुक्त आरएस वर्मा ने बताया कि सभी संबंधित विभागों के छोटे से लेकर बड़े अधिकारी तक पराली जलाने पर रोक लगाने के लिए अपनी जिम्मेदारी को मुस्तैदी से निभाते हुए यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि जिले में एक भी स्थान पर पराली में आग न लगने दी जाए। जो भी व्यक्ति इन आदेशों की अवहेलना करता पाया जाता है उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई के साथ जुमार्ने का नोटिस जारी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसा करने में विफल रहने पर संबंधित अधिकारी, कर्मचारी के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

प्रदूषण फैलाने वाले इंट भट्ठे बंद करवाएं

जिले में वायु प्रदूषण रोकथाम की मुहिम के तहत ईंट भट्ठों को चेक किया जाए और प्रदूषण फैलाने वाले भट्ठों को बंद करवाया जाए। साथ ही निर्माण स्थलों पर जांच टीमों द्वारा निरीक्षण किया जाए और निर्माण कार्य बंद करवाते के लिए चालान किए जाएं।

Next Story
Top