Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कैदियों के आ गए अच्छे दिन, अब जेल में नहीं बल्कि फ्लैट में रहकर काटेंगे सजा, कर सकेंगे नौकरी

हरियाणा की जेलों में बंद कैदियों के अच्छे दिन आने वाले हैं। अब उन्हें सजा के दौरान ही बाहर फ्लैट में रहने के लिए मिलेगा। न सिर्फ फ्लैट में अपने बीबी बच्चों के साथ रहने का मौका बल्कि बाहर किसी दुकान या फिर फर्म में नौकरी करने का भी मौका दिया जाएगा। सरकार ने इस प्रोजेक्ट को लेकर काम करना शुरू कर दिया है।

सांकेतिक फोटोसांकेतिक फोटो

हरियाणा की जेलों में बन्द कैदियों को फ्लैट में रखने के लिए जल्द ही योजनाओं की शुरूआत होनी है। इसके लिए प्रदेश के करनाल (Karnal) और फरीदाबाद की जेलों के बाहर फ्लैट बनाए जा रहे हैं। फरीदाबाद जेल के बाहर 36 व करनाल जेल के बाहर 30 फ्लैट निर्माणाधीन है। इसमें उन कैदियों को जगह मिलेगी जिनका आचार, व्यवहार जेल में अच्छा होगा।

प्रदेश के परिवहन एवं जेल मंत्री कृष्ण लाल पंवार (Krishna Lal Panwar) ने बताया कि जेलों में कैदियों को अच्छे व्यवहार के लिए हवन करवाए जा रहे हैं, उनका बदमाशी से मोहभंग हो इसके लिए ज्ञानानंद के प्रवचन आयोजित करवाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि इससे फायदा भी हो रहा है तमाम कैदियों के स्वाभाव में सुधार हो रहा है।

करनाल की जेल में बंद कैदियों से मिलने के जेलमंत्री ने कैदियों को नसीहत दी है। उन्होंने कैदियों से कहा कि अगर आपका व्यवहार बेहतर होगा तो आपको इस कैदखाने से मुक्ति मिल जाएगी और बाहर फ्लैट में परिवार के साथ रहने को मिलेगा। वहां आप बाहर जाकर काम भी कर सकते हैं।

सरकार द्वारा शुरू किया जा रहा ये प्रोजेक्ट फिलहाल अभी प्रदेश की करनाल और फरीदाबाद की ही जेल में शुरू किया गया है। अगर योजना के सकारात्मक परिणाम आते हैं तो प्रदेश की बाकी 17 जेलों के बाहर भी ऐसे ही फ्लैट बनाए जाएंगे। प्रदेश में कुल 19 जेल हैं।

गौरतलब है कि सरकार हर राष्ट्रीय दिवस पर जेल में बंद वृद्ध कैदियों को रिहा करती है इसबार भी गांधी जयंती पर जेल में बंद वृद्ध कैदियों को रिहा किया जाएगा। न सिर्फ हरियाणा में ही बल्कि देश के विभिन्न राज्यों के जेलों में बंद बेहतर आचरण वाले कैदियों की सजा माफ करके रिहाई होती रही है।

Next Story
Top