Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अब पार्षदों की मंजूरी से होंगे विकास कार्य, एनओसी लेने के बाद ही होगा ठेकेदार का पेमेंट

अगर पार्षद ने ऑबजेक्शन लगा दिया तो पेमेंट रोक दी जाएगी। पार्षद द्वारा लगाए गए आब्जेक्यान की जांच करने खुद मेयर और कमीश्नर की कमेटी जाएगी। दरअसल बैठक में पार्षदों ने मुद्दा उठाया कि उनके वार्ड में विकास के लिए जो काम होते हैं, उनका पार्षदों को पता ही नहीं रहता। कब काम पूरा होगा, कितने रुपये का टेंडर है, आने वाले दिनों में कौन सा काम होना है,

अब पार्षदों की मंजूरी से होंगे विकास कार्य, एनओसी लेने के बाद ही होगा ठेकेदार का पेमेंट

विधानसभा चुनाव से ठीक पहले नगर निगम हाउस की दूसरी बैठक हंगामेदार रही। कई महत्वपूर्ण एजेंडों पर मुहर लगाई गई। तीखी बहस के बाद पार्षदों की पावर बढ़ा दी गई है। अब किसी भी वार्ड में कोई भी काम होगा तो उसके लिए पार्षद की मंजूरी लेनी होगी। विकास कार्य का अस्टीमेट बनाते समय, टेंडर देते समय भी पार्षद के हस्ताक्षर करवाने होंगे। वर्क ऑर्डर पर भी पार्षद के हस्ताक्षर करवाने होंगे।

ठेकेदार द्वारा काम पूरा होने पर पार्षद एनओसी देगा तो ही पेमेंट की जाएगी। अगर पार्षद ने ऑबजेक्शन लगा दिया तो पेमेंट रोक दी जाएगी। पार्षद द्वारा लगाए गए आब्जेक्यान की जांच करने खुद मेयर और कमीश्नर की कमेटी जाएगी। दरअसल बैठक में पार्षदों ने मुद्दा उठाया कि उनके वार्ड में विकास के लिए जो काम होते हैं, उनका पार्षदों को पता ही नहीं रहता। कब काम पूरा होगा, कितने रुपये का टेंडर है, आने वाले दिनों में कौन सा काम होना है,

इसके बारे में पार्षदों को कोई जानकारी नहीं होती। जैसे ही मुद्दा उठा तो पार्षद कुर्सी से खड़े हो गए और वाक आउट जैसी स्थिति बन गई। इसके बाद मेयर मनमोहन गोयल और अधिकारियों ने सर्व सम्मत्ति से पार्षदों को शक्ति दे दी। सुबह 11.30 बजे मेयर मनमोहन गोयल की अध्यक्षता में शुरू हुई बैठक करीब 5 घंटे तक चली। बैठक में 26 मुख्य समेत कुल 38 एजेंडे पास किए गए।

एक महत्वपूर्ण एजेंडा यह भी पास हुआ कि अगर शहर में किसी भी गली या मोहल्ले का नाम बदलवाना हो तो बदलवा सकते हैं। इसके लिए चार पार्षदों की एक कमेटी बनाई गई, जिसमें एक पार्षद विपक्ष के गुलशन इश्पुनियानी भी होंंगे। कमेटी के अध्यक्ष राजकमल सहगल बनाए गए हैं। इनके अलावा दो और पार्षद कमेटी में होंगे। चारों की सहमति के बाद गली मोहल्ले का नाम बदल दिया जाएगा। इसके अलावा नगर निगम में 10 सुरक्षाकर्मी नियुक्त किए जाएंगे जो अतिक्रमण हटाने वाली टीम के साथ बाजार में जाएंगे।


जिनको गोली दे रखी है उन्हें दर्द नहीं तुम्हे क्यों हो रहा है

बैठक में वार्ड-1 के पार्षद कदम सिंह अहलावत ने सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर का चुनाव करवाने का मुद्दा भी उठाया। कदम सिंह अहलावत ने कहा कि लोकतंत्र का गला क्यों घोटा जा रहा है। चुनाव करवाने में कहां दिक्कत आ रही है बताते क्यों नहीं। अब तो बहुमत भी भाजपा का है, पार्षदों को आपने गोली दे रखी है। अहलावत की इस बात पर मेयर ने चुटकी ली और कहा कि जिनको गोली दे रखी है उन्हें दर्द नहीं तो तुम्हे क्यों हो रहा है। दोनों पदों के लिए विधानसभा चुनाव के बाद फैसला लिया जाएगा।

राधेश्याम ढल और गुलयान में बहस

बैठक के दौरान वार्ड-14 के पार्षद राधेश्याम ढल और वार्ड-15 के पार्षद गुलशन इश्पनियानी में बहस भी हुई। गुलशन कह रहे थे कि मेरे वार्ड में मंत्री ग्रोवर के बेटे विकास कार्यों का शिलान्यास करके चले जाते हैं, मुझे पता ही नहीं होता। इस पर ढल ने कहा कि आपके वार्ड में विकास कार्य हो रहे हैं क्या इससे आपको दिक्कत है। गुलशन ने कहा कि मैं मानता हूं कि विकास कार्य हो रहे हैं, लेकिन मेरे नॉलेज में तो हों।

कॉलेज के लिए बसें

वार्ड-10 के पार्षद राहुल देशवाल ने बसों का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि बलियाना और आसपास के गांवों में कॉलेज के लिए बसें चलाई जाएं। छात्र परेशान रहते हैं। इस पर मेयर ने बताया कि इको फ्रैंडली बसों के टेंडर हो रहे हैं, इसकी व्यवस्था करवा दी जाएगी। इसके अलावा

हर वार्ड में जेई जाएंगे

पार्षदों द्वारा सीवर के ढक्कनों और अन्य व्यवस्था को लेकर सवाल उठाया। फैसला लिया गया कि अब हर वार्ड में जेई जाएंगे, वहां के पार्षद से मिलेंगे जो भी समस्या होगी उसका समाधान करवाएंगे। एक सप्ताह में सभी समस्याएं ठीक करवाई जाएंगी। इसके अलावा हर वार्ड में सफाई कर्मियोंे की संख्या बढ़ाने पर भी विचार किया गया।

रेलवे रोड के आसपास आंगनबाड़ी

बैठक में वार्ड-16 की पार्षद डिंपल जैन ने रेलवे रोड के आसपास एक आंगनबाड़ी बनाने की भी मांग उठाई। उनका कहना था कि यहां रहने वाले बच्चों को वैक्सीन के लिए नागरिक अस्पताल जाना पड़ता है, लेकिन अस्पताल ज्यादा दूर है। यहां आंगनबाड़ी खुलने पर बच्चों को टीका आदि लगवाने में आसानी होगी।

हर पार्क के कॉनर पर वीटा के बूथ

बैठक में अधिकारियों ने जानकारी दी कि हर पार्क के कोने पर वीटा के बूथ खोलने की योजना है। इसके लिए वीटा ने उनसे जगह की मांग की है। बूथ खोलने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इसका किराया नगर निगम ही लेगा।

इंदौर की तर्ज पर रोहतक

केके वार्ष्णेय ने बताया कि रोहतक में विकास की गति और तेज की जाएगी। सफाई व्यवस्था के साथ-साथ अन्य सुविधाओं का ध्यान भी रखा जाएगा। अब रोहतक को इंदौर की तर्ज पर डेवलप किया जाएगा।

सड़क कैसे धस रही है कारण जानो

बैठक में डीएवी स्कूल, आर्य नगर रोड और कोर्ट के आसपास सड़क ध्सने का ममाला भी उठा। मेयर मनमोहन गोयल ने भी इस पर चिंता जताई। अधिकारियों को निर्देश दिए कि पता लगाया जाए, सड़क क्यों धस रही है। कोई पानी की पाइप लाइन लीक तो नहीं है। भविष्य में इससे बड़ा खतरा पैदा हो सकता है।

हर पार्क में लगाएं ओपन जिम

पार्षदों ने मांग उठाई कि हर पार्क में ओपन जिम लगाए जाएं। मेयर ने कहा कि रोहतक के पार्कों में 50 ओपन जिम लगने हैं, इनमें से 27 लग चुके हैं, बाकि लगा दिए जाएंगे।

इन प्रस्ताव पर भी मुहर लगी

- रेलवे एलिवेटेड ट्रैक के दायरे में आए लोगों को दुकानें और मकान देने के लिए सरकार की ओर से जो रुपये आने हैं, उसके लिए पत्र लिखा गया है। दुकानों के लिए 249.91 लाख रुपये की ई-निविदा आमंत्रित की जा चुकी है।

- रोहतक में प्रदूषण रहित सिटी बसें चलाई जाएंगी।

- सोनीपत स्टैंड स्थित पार्किंग और सामूदायिक केंद्र का टेंडर हुआ।

- शहर में सीएनजी पेट्रोल पंप के लिए सरकार को पत्र लिख जाएगा।

- बैट्री रिक्श चलाने के प्रति जागरूक किया जाएगा।

- पीजीआई के पास यातायात पार्क बनेगा।

- तीन हजार स्ट्रीट लाइट लगाई जाएंगी।

- सात दिन मं सभी खराब लाइट ठीक करवाई जांएगी।

- झुग्गी झोपडि़यों में रहने वाले लोगों के लिए पुनर्वास की व्यवस्था होगी।

- जिन वार्ड में पार्क नहीं वहां सामूदायिक केंद्र में ओपन जिम लगेंगे।

- नगर निगम का नया भवन नहीं बनेगा।

- दुकानदारों को मालिकाना हक देने के लिए मेयर, डीसी, नगर निगम और संबंधित पार्षद की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित होगी।

- अतिक्रमण हटाने टीम जाएगी तो सुरक्षाकर्मी साथ होंगे, 10 सुरक्षा कर्मी नगर निगम में नियुक्त होंगे

- वार्डों में सीसीटीवी लगाए जाएंगे।

- इसके अलावा पेयजल, सीवर, गंदे नाले, अवैध कॉलोनी, नहर के पास हाई मास्ट लाइट लगवाने संबंधी कई प्रस्तावों पर मुहर लगाइ गई।

Next Story
Share it
Top