Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बेटे को अमेरिका भेजने के लिए परिवार से लिया 40 लाख , डेढ़ साल से बेटे का पता नहीं

जींद निवासी युवक को अमेरिका भेजने के नाम पर परिवार से 40 लाख रुपये ले लिए। अमेरिका पहुंचने के बजाए बेटा डेढ़ साल से लापता है। पीड़ित परिवार ने पुलिस में शिकायत भी दे दी है।

डेढ़ साल से अमेरिका गए व्यक्ति का कोई सुराग नहींNo Clue of the Person went to America two years ago

युवक को अमेरिका भेजने का झांसा देकर 40 लाख रुपये हड़प लिए है। इसके अलावा लगभग डेढ़ साल से अमेरिका गए युवक का परिजनों को कोई सुराग भी नहीं लग पा रहा है। परिजनों से युवक का कोई संपर्क हुआ है। जिन लोगों ने अमेरिका भेजा वे लोग भी संतोषजनक जवाब नहीं दे रहे हैं। हालांकि पुलिस ने युवक की पत्नी की शिकायत पर तीन लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

जींद स्थित वार्ड नम्बर सात निवासी पवनदीप की पत्नी मनप्रीत ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि सफीदों के पानीपत रोड निवासी मोहनदेव लोगों को रोजगार के लिए विदेश भेजता है। अप्रैल 2018 में उनका संपर्क मोहनदेव से हुआ। मोहनदेव ने उसके पति पवनदीप को अमेरिका भेज काम दिलाने की बात कही। जिसकी एवज में मोहनदेव, उसकी पत्नी तथा उनके जानकार कैलाश ने उनसे 40 लाख रुपये ले लिए। 14 अप्रैल 2018 को मोहनदेव समेत तीन लोग पवनदीप को अपने साथ ले गए और अमेरिका भेजने की बात कही।

जानकारी के मुताबिक जॉर्जिया जेल में बंद है युवक

डेढ़ माह तक पवनदीप से बातचीत होती रही उसके बाद पवनदीप से कोई बात नहीं हो पाई। जिस पर उन्होंने मोहनदेव से संपर्क साधा तो बताया कि पवनदीप जॉर्जिया जेल में बंद है। जल्द ही उसे जेल से छुड़वाकर अमेरिका भेज दिया जाएगा। पिछले डेढ़ साल से पवनदीप का कोई सुराग नहीं लग पाया है। न ही मोहनदेव तथा उसके परिजन संतोषजनक जवाब दे रहे हैं। हालांकि पुलिस ने मनप्रीत की शिकायत पर मोहनदेव, उसकी पत्नी तथा जानकार कैलाश के खिलाफ धोखाधड़ी, अमानत में ख्यानत का मामला दर्ज किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

परिजनों ने पुलिस कार्यशैली पर उठाई उंगली, पवनदीप का सुराग लगाने की मांग

पवनदीप के भाई समनदीप व अन्य परिजनों ने पुलिस अधीक्षक को दी शिकायत में बताया कि उन्होंने हर अधिकारी को शिकायत दी लेकिन सफीदों पुलिस ने काफी जहदोजहद के बाद महज धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। जबकि पवनदीप का अभी भी कोई सुराग नहीं लग पाया है। जिसके बारे में आरोपित मोहनदेव को पूरी जानकारी है लेकिन मोहनदेव उन्हें लगातार गुमराह करता आ रहा है। उन्होंने मांग की कि पवनदीप को सुरक्षित घर लाया जाए और हड़पी गई 40 लाख रुपये की राशि उन्हें वापस दिलाई जाए।

Next Story
Share it
Top