Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा के नाले में जब बहने लगी आग, रात भर दमकल कर्मी बुझाने में जुटे रहे

नारनौल स्थित गंदे नाले में रात को अचानक आग लग गई। गंदे पानी की जगह आग की लपटें बहने लगीं। जिनके ऊपर काबू पाने के लिए दमकल विभाग को काफी मशक्कत करनी पड़ी।

कानपुर: चलती कार बनी आग का गोला, ड्राइवर ने इस तरह बचाई जाननारनौल के नाले में डीजल फैलने से लगी आग (प्रतीकात्मक फोटो)

नारनौल स्थित गंदे नाले में मंगलवार रात डीजल का टैंकर पलट गया। जिससे पूरे नाले में 29 हजार लीटर डीजल फैल गया। बिजली शॉर्ट सर्किट के कारण उसमें आग लग गई। जिससे गंदे पानी की जगह रात भर आग बहती रही।

जानकारी के मुताबिक पलवल से चलकर एक डीजल टैंकर मंगलवार रात करीब पौने 11 बजे शहर में रेवाड़ी रोड स्थित गंदे नाले के पुल के पास पहुंचा। अचानक मोड़ को नहीं भांपने की वजह से पुल किनारे खड़े बिजली पोल से टैंकर टकरा गया। पोल टूटा और टैंकर का ­ाोल साथ लगते गंदे नाले की ओर ­ाुक गया। स्थिति को भांपते हुए चालक व परिचालक कूद गए और टैंकर सीधे गंदे नाले में गिर गया। इस तरह पोल के बिजली तार के सम्पर्क में पलटने से बाहर बिखरा डीजल आ गया और आगजनी की घटना शुरू हो गई।

आनन फानन में फायर ब्रिगेड की एक गाड़ी महज पांच मिनट में पहुंच गई। दूसरी तरफ जैसे-जैसे टैंकर से डीजल बाहर बह रहा था, आग तेजी से भड़क रही थी। गंदे नाले में बहते पानी की तरह आग बहने लगी। यह देख आस-पास के लोग एकजुट हुए और आस-पास पड़ी मिट्टी को आग में डालने लगे। देखते ही देखते इस आग ने आस-पास के तार, प्लास्टिक केबल, पोल व ट्रांसफार्मर को जला दिया। पुल के नीचे आग भभकने के कारण धुआं उठने लगा और पुल पूरी तरह से गर्म हो गया। दोनों तरफ से वाहनों की लंबी कतार लग गई। इस टैंकर में 29 हजार लीटर डीजल बताया जा रहा है। यह दो पेट्रोल पंप पर जाना था। 65 रुपए प्रति लीटर के भाव से इसकी कीमत 18 लाख 85 हजार रुपए हो गई। वहीं 12 टायर का यह कैंटर पूरी तरह जलकर लोहे का कबाड़ बन गया। इस घटनाक्रम के दौरान प्रशासन की ओर से डीसी जगदीश शर्मा, नायब तहसीलदार लच्छीराम,

फायर ब्रिगेड की 7 गाडि़यां पहुंची

फायर ब्रिगेड नारनौल के इंचार्ज सुरेश मान ने बताया कि नारनौल की तीन गाडि़यां, जिनमें से दो की क्षमता 5-5 हजार लीटर व एक गाड़ी की क्षमता 12 हजार लीटर है। यह आग बु­ााने में लगी। महेंद्रगढ़ से 12-12 हजार क्षमता लीटर वाली दो गाडि़यां भी पहुंची। रेवाड़ी से भी 5-5 हजार लीटर क्षमता वाली दो गाडि़यां पहुंची। रात 11 बजे से अल सुबह 4 बजे तक आगजनी को काबू पाया गया। इस दौरान 200 लीटर फोम कैमिकल भी खर्च हुआ। यह कैमिकल 140 रुपए प्रति लीटर मिलता है। लोगों के सहयोग से किसी तरह आगजनी पर काबू पाया है।

चार पहिया वाहनों पर लगायी रोक

घटना के बाद पुल की हालत खराब हो गई है। कोई अप्रिय घटना ना हो। इस बात को ध्यान में रखकर प्रशासन ने पुल के ऊपर से फॉर व्हीकल के आवाजाही पर रोक लगा दी है। यहां दिन के समय बेरिकेट लगाकर पुलिस कर्मी तैनात किए गए। पुल से केवल दुपहिया वाहनों को ही गुजरने दिया गया। अन्य फॉरव्हीकल वाहन महावीर चौक से शहर के अंदर चितवन वाटिका, वूमैन आईटीआई, सीताराम मैरिज पैलेस से महावीर पुलिस चौकी थाना के सामने से होते हुए गौशाला रोड से रेवाड़ी रोड मार्ग से आवाजाही दिनभर रही।

दो पेट्रोल पंप पर जाना था डीजल

पुलिस प्रवक्ता नरेश कुमार ने बताया कि 29 हजार लीटर डीजल लेकर यह टैंकर गुजरात के जामनगर से चला था। पलवल ड्रोप करने के बाद यह रात को नारनौल आ रहा था। नारनौल के पास के दो पेट्रोप पंप पर अलग-अलग 17 हजार व 12 हजार लीटर देना था। घटना के वक्त यूपी के इटावा जिला के जसवंत नगर निवासी चालक अरवेश व जोधपुर के सोबारा की ढाणी निवासी प्रकाश जोशी परिचालक था। कैंटर मालिक इनुश खान भुट्टो जोधपुर को बुलाया गया है। इसके बाद आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।


Next Story
Top