Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पुरानी रंजिश में चार की हत्या, कार में शव डालकर लगाई आग

दिल्ली से अगवा चार युवकों की हत्या

पुरानी रंजिश में चार की हत्या, कार में शव डालकर लगाई आग

हरियाणा. दिल्ली के सीमावर्ती गांव ईस्सरहेड़ी की बनी में एक जली हुई कार में दिल्ली के चार युवकों के जले हुए शव बरामद किए गए। घटना बृहस्पतिवार सुबह सामने आई। पुलिस ने कार व शवों को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। मृतकों के परिजनों ने इस घटना को लेकर हंगामा भी किया और अपहरण और हत्या का केस दिल्ली के बाबा हरिदास नगर थाने में दर्ज करने का दबाव बनाया। शुरुआत में परिजनों ने हरियाणा में पोस्टमॉर्टम करवाने से भी इंकार कर दिया था लेकिन बाद में शवों को रोहतक भेजा गया है।

J&K: CM पद को लेकर नरम हुई PDP और BJP, 19 जनवरी तक सरकार बनने के आसार

जनलोकपाल बिल गलत तरीके से पास करवाने पर अड़े थे केजरीवाल : धीर

थाने में 14 साल की किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म, आरोपी पुलिसकर्मी फरार


जानकारी के अनुसार चारों मृतकों की पहचान कार के नंबर के आधार पर की गई। मृतकों में तीन नजफगढ़ के मित्राऊ गांव के रहने वाले हैं जबकि एक युवक समसपुर गांव का बताया जा रहा है। कार छावला निवासी हरिश्चन्द्र के नाम पर रजिस्टर्ड है। पुलिस ने हरिश्चन्द्र से संपर्क किया तो पता चला कि उसने कार मित्राऊ के संदीप को बेच दी थी। जब पुलिस मित्राऊ पहुंची तो पाया की बुधवार दोपहर सुधीर, संदीप उर्फ धोला, मनीष उर्फ सोनू व दीपक नजफगढ़ गए थे। लेकिन वो ईस्सरहेड़ी कैसे पंहुच गए इसका किसी परिजन को कुछ पता नहीं है।

भगवान राम की धरती है भारत, इस्लाम के पैंगबर ने भी था बतायाः कुरैशी


मृतकों में दीपक महज 16 साल का बताया जा रहा है और समसपुर का रहने वाला था। मृतकों के परिजनों का कहना है कि चारों की दिल्ली में हत्या करने के बाद शवों को ईस्सरहेड़ी ले जाया गया है। इसके बाद शवों को कार में डालकर कार समेत आग लगाई गई है।

कार में मिले चार नर कंकाल, शवों की शिनाख्त हुई


रंजिश के चलते वारदात: चारों युवकों की हत्याओं के पीछे कोई पुरानी रंजिश हो सकती है। बताया जा रहा है कि मृतक संदीप का भाई नवीन दो हत्याओं के मामले में जेल में बंद है। आशंका जताई जा रही है कि उसी रंजिश के चलते इन युवकों की हत्या कर इनके शवों को गाड़ी में डालकर आग लगा दी गई।


जल चुके हैं शव: सुबह साढ़े पांच बजे ईस्सरहेड़ी गांव से झड़ोदा की ओर जाने वाले कच्चे रास्ते पर एक इटीओस कार जली मिली। ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची। जांच में पाया कि गाड़ी में चार युवकों के शव थे, जो पूरी तरह से जल चुके थे और कार भी आग की भेंट चढ़ चुकी थी। दो युवकों के शव कार के पिछले हिस्से में थे, जबकि दो बीच वाली सीट पर थे।
जिस स्थान पर गाड़ी जली हुई अवस्था में मिली, वहां गाड़ी की नंबर प्लेट मिली है, जिसके आधार पर पुलिस ने मृतकों की पहचान करने का प्रयास किया और उनकी पहचान हो पाई। बताया गया है कि पहले यह गाड़ी छावला के हरीश के नाम थी और इसके बाद इसे मितराऊ के संदीप ने खरीदा था।


शवों की पहचान हो गई है। इनमें मनीष उर्फ सोनू(27),सुधीर (35) व संदीप (34) मितराऊ गांव (दिल्ली) के निवासी हैं, जबकि 16 वर्षीय दीपक सिरसपुर गांव (दिल्ली) का निवासी है। हत्यारों ने शव छुपाने के उद्देश्य से गाड़ी को आग लगाई है, ताकि मृतकों की पहचान न हो सके।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, घटना के बारे में अधिक जानकारी -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top