Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा : ईएसआई की हत्या मामले में मुंशी दोषी करार, सजा का ऐलान आज

वर्ष 2016 में हुई ईएसआई की हत्या के मामले में एडीएसजे जसबीर सिंह की कोर्ट ने मालखाने के मुंशी को दोषी करार दिया है। जिसे बुधवार को सजा सुनाई जाएगी। मुंशी पर मारपीट कर हत्या करने का आरोप लगाया गया था।

हरियाणा : ईएसआई की हत्या मामले में मुंशी दोषी करार, सजा का ऐलान आजMunshi convicted in ESI murder case sentence announced today

वर्ष 2016 में हुई ईएसआई की हत्या के मामले में एडीएसजे जसबीर सिंह की कोर्ट ने मालखाने के मुंशी को दोषी करार दिया है। जिसे बुधवार को सजा सुनाई जाएगी। मुंशी पर मारपीट कर हत्या करने का आरोप लगाया गया था।

मामले के मुताबिक कन्हेली निवासी जयकिशन हरियाणा पुलिस में ईएसआई के पद पर कार्यरत थे। सितंबर 2016 में ईएसआई की ड्यूटी हिसार रोड स्थित मालखाना गार्द में थी। पांच सितंबर को ईएसआई का बेटा खाना देकर घर चला गया था।

इसके बाद पता चला कि रात के समय हार्ट अटैक के कारण जयकिशन की मौत हो गई है। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव उनके परिजनों को सौंप दिया। शुरू में मृतक के बेटे की तरफ से कोई आरोप नहीं लगाए गए। पोस्टमार्टम हाेने के बाद खुलासा हुआ कि ईएसआई की मौत हार्ट अटैक से नहीं हुई बल्कि उसकी मारपीट कर हत्या की गई है।

उसके शरीर पर चोट के निशान मिले हैं। इसके बाद पुलिस ने हत्या में दर्ज कर लिया गया। पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल शुरू की और कई कर्मचारियों के बयान दर्ज किए गए। इस दौरान ईएसआई के मोबाइल की कॉल रिकार्ड भी चेक की गई।

जांच में पता चला कि जयकिशन के साथ पानीपत के गांव माछरौली का मनोज भी ड्यूटी बतौर मुंशी काम करता था। मनोज ने पुलिस को बयान दिया था कि वह छुट्टी लेकर गुगामेड़ी गया था। जब वह शाम के समय गुगामेड़ी से वापस आया तो जयकिशन और एक अन्य व्यक्ति शराब पी रहे थे।

इसके बाद मनोज अपने घर चला गया था। सुबह होने पर जब वह वापस आया तो जयकिशन मृत मिला। जयकिशन का मोबाइल और बैग घटनास्थल पर ही बरामद हुए थे। पुलिस ने सबूत मिलने पर मुंशी मनोज को गिरफ्तार कर लिया था। उसने पुलिस को गुमराह किया था। सबूत मिलने पर कोर्ट ने मनोज को दोषी करार दिया है जिसे सजा सुनाई जाएगी।

Next Story
Share it
Top